Weather Update: दिल्ली में तापमान 52 डिग्री पार, केरल में भारी बारिश, उत्तर-पूर्व में बाढ़; जानें यूपी-बिहार समेत देशभर का मौसम हाल |

Weather Update

Weather Update: चक्रवात रेमल से पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में भारी बारिश, त्रिपुरा में बाढ़ के हालात |

Weather Update
Weather Update

Weather Update: IMD हीटवेव अलर्ट , देश की राजधानी दिल्ली में बुधवार (29 मई) को गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। पहली बार दिल्ली का तापमान 52 डिग्री सेल्सियस के पार चला गया। मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली के मंगेशपुर में तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इतनी भीषण गर्मी के बाद भी कुछ ही घंटों में दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्सों में तेज हवा के साथ बारिश हुई, जिससे मौसम में थोड़ी राहत मिली और माहौल खुशनुमा हो गया।

Weather Update: तेज गर्मी के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सड़कें सूनी हो गईं और लोग घरों में रहने के लिए मजबूर हो गए। लेकिन बारिश ने अचानक से तापमान को थोड़ा कम कर दिया, जिससे लोगों ने थोड़ी राहत महसूस की। मौसम विभाग ने आगे भी ऐसे ही मौसम की स्थिति बनी रहने की संभावना जताई है और लोगों को सावधान रहने की सलाह दी है। इस प्रकार के मौसम में हाइड्रेटेड रहना और धूप से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाना महत्वपूर्ण है।

Weather Update: इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने देश के कई हिस्सों में हीटवेव को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, और राजस्थान समेत कई राज्यों में 30 और 31 मई को भी हीटवेव की संभावना है। विभाग ने इन राज्यों में लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी है, खासकर दोपहर के समय बाहर निकलने से बचने के लिए कहा है।

Weather Update: इस हीटवेव के कारण जनजीवन प्रभावित हो सकता है, और लोगों को गर्मी से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाने की आवश्यकता है। ठंडे पानी का सेवन, हल्के और ढीले कपड़े पहनना, और बाहर निकलते समय सिर को ढक कर रखना कुछ ऐसे उपाय हैं जो इस भीषण गर्मी से बचने में सहायक हो सकते हैं।

web development
web development

वहीं, केरल के एर्नाकुलम में बुधवार को तेज बारिश हुई, जिससे वहां के तापमान में कमी आई और लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली। इस बारिश से कुछ क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति भी उत्पन्न हो गई। मौसम विभाग ने केरल में आगामी दिनों में भी बारिश जारी रहने की संभावना जताई है, जिससे वहां के मौसम में ठंडक बनी रह सकती है।

इससे भी पढ़े :- सूचना और साइबर सुरक्षा में नई ऊंचाइयां, रक्षा क्षेत्र में नई क्षमता

चक्रवात रेमल से आई पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़

Weather Update: चक्रवात रेमल के प्रभाव से पूर्वोत्तर भारत के साथ ही पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हो रही है। त्रिपुरा में भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। त्रिपुरा सरकार के मंत्री सुशांत चौधरी ने बताया कि भारी बारिश के चलते कई नदियाँ अपने खतरनाक स्तर से ऊपर बह रही हैं, जिससे कई क्षेत्रों में बाढ़ की समस्या पैदा हो गई है।

इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने आपातकालीन सेवाओं को सक्रिय कर दिया है और राहत कार्य शुरू कर दिए गए हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहे हैं। कई सड़कों और पुलों पर पानी भर जाने से यातायात भी बाधित हो गया है, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Weather Update: मौसम विभाग ने आगामी दिनों में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की है, जिससे स्थिति और गंभीर हो सकती है। जनता से अपील की जा रही है कि वे सुरक्षित स्थानों पर रहें और सरकार द्वारा जारी की गई चेतावनियों और निर्देशों का पालन करें। राहत और बचाव कार्यों में सहयोग देने के लिए स्थानीय प्रशासन पूरी तरह से तैयार है।

Weather Update: रेमल चक्रवात के कारण हो रही भारी बारिश के चलते मिजोरम की एक पत्थर खदान में भूस्खलन हुआ, जिसमें कई मजदूर फंस गए। इस हादसे में अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। चक्रवात रेमल के प्रभाव से पूर्वोत्तर के कई राज्यों में भूस्खलन की घटनाएं सामने आ रही हैं, जिससे जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

Weather Update
Weather Update

Weather Update: मिजोरम में हुए इस हादसे के बाद राहत और बचाव कार्य तेजी से चलाया जा रहा है। प्रशासन और बचाव दल प्रभावित क्षेत्र में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के प्रयास में जुटे हुए हैं। भारी बारिश और भूस्खलन के कारण बचाव कार्य में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

Weather Update: चक्रवात रेमल के चलते पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में भी अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में और बारिश होने की संभावना जताई है, जिससे स्थिति और गंभीर हो सकती है। स्थानीय प्रशासन ने लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षित स्थानों पर शरण लेने की सलाह दी है।भारी बारिश और भूस्खलन के कारण सड़कों और परिवहन सेवाओं पर भी असर पड़ा है, जिससे लोगों को अतिरिक्त परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन करते हुए सावधानी बरतना आवश्यक है।

भारत में मानसून कब देगा दस्तक?

Weather Update: केरल के कई इलाकों में भारी बारिश और भूस्खलन को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। इस भारी बारिश के कारण राज्य के कई हिस्सों में जलजमाव और घरों के गिरने की घटनाएं सामने आई हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार ने इडुक्की के पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन की संभावना को ध्यान में रखते हुए रात की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Weather Update: भारी बारिश के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ गया है और कई क्षेत्रों में पानी भर जाने से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है। राहत और बचाव कार्य तेजी से चलाए जा रहे हैं, लेकिन मौसम की कठिन परिस्थितियों के कारण इनमें बाधाएं आ रही हैं। स्थानीय प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक यात्रा से बचें और सुरक्षित स्थानों पर रहें।

Weather Update: केरल सरकार ने संबंधित विभागों को सतर्क रहने और किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। प्रभावित क्षेत्रों में आपातकालीन सेवाओं को तैनात किया गया है ताकि किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति से तुरंत निपटा जा सके। जनता से अपील की जा रही है कि वे सरकारी निर्देशों का पालन करें और सतर्क रहें।

आईएमडी के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून 1 जून को केरल में दस्तक देगा। इसके बाद यह धीरे-धीरे उत्तर भारत की ओर बढ़ेगा और 15 जून तक वहां पहुंचने की संभावना है। इस अवधि के दौरान दक्षिण भारत के राज्यों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

web development
web development

Weather Update: मानसून की शुरुआत के साथ ही केरल और आसपास के क्षेत्रों में मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। भारी बारिश से कृषि कार्यों में तेजी आएगी और किसानों को राहत मिलेगी। हालांकि, अत्यधिक बारिश के कारण कुछ क्षेत्रों में जलभराव और बाढ़ की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है, जिससे जनजीवन प्रभावित हो सकता है।

Weather Update: आईएमडी ने दक्षिण भारत के सभी राज्यों को सतर्क रहने की सलाह दी है और संभावित आपात स्थितियों से निपटने के लिए तैयारी करने को कहा है। बारिश के दौरान बिजली कटौती, यातायात अवरोध और अन्य चुनौतियों का सामना करने के लिए स्थानीय प्रशासन को तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं।इस मानसूनी सीजन के दौरान, जनता से अपील की जा रही है कि वे सुरक्षित स्थानों पर रहें, अनावश्यक यात्रा से बचें और मौसम विभाग द्वारा जारी की गई चेतावनियों और सुझावों का पालन करें। मानसून के आगमन से दक्षिण भारत में गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद है।

यूपी-बिहार में कैसा रहेगा मौसम?

Weather Update: आईएमडी के मुताबिक, उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में 30 मई को भी लू से लेकर भीषण लू की स्थिति बनी रहेगी। 31 मई को पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू से लेकर गंभीर लू की संभावना है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, बिहार और झारखंड के विभिन्न हिस्सों में भी लू की स्थिति बनी रहने की संभावना है।

Weather Update: इस भीषण गर्मी के कारण जनजीवन प्रभावित हो सकता है और लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस दौरान पर्याप्त मात्रा में पानी पीने, हल्के और ढीले कपड़े पहनने, और धूप में बाहर जाने से बचने की सलाह दी है। विशेष रूप से बच्चों, बुजुर्गों और बीमार व्यक्तियों को इस मौसम में अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

Weather Update: मौसम विभाग ने संबंधित राज्यों को अलर्ट जारी किया है और स्थानीय प्रशासन से आवश्यक तैयारियाँ करने को कहा है। सार्वजनिक स्थानों पर ठंडे पानी की व्यवस्था, प्राथमिक चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता, और आपातकालीन सेवाओं को तत्पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।लू की स्थिति को देखते हुए, जनता से अपील की जा रही है कि वे अनावश्यक यात्रा से बचें और गर्मी से बचाव के उपायों का पालन करें। इस मौसम में सतर्कता और सावधानी ही सुरक्षित रहने का सबसे अच्छा तरीका है।

Weather Update: मौसम विभाग के अनुसार, 01 जून, 2024 को पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, मध्य प्रदेश, बिहार और झारखंड के विभिन्न हिस्सों में लू की स्थिति बनी रहने की संभावना है। हालांकि, लू के प्रभाव में कमी देखने को मिल सकती है।

Weather Update
Weather Update

Weather Update: लू के कारण जनजीवन प्रभावित हो सकता है और लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि इस दौरान हाइड्रेटेड रहें, हल्के और ढीले कपड़े पहनें, और सीधे धूप में जाने से बचें। विशेषकर बुजुर्गों, बच्चों और बीमार लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है।

Weather Update: मौसम विभाग ने संबंधित क्षेत्रों में अलर्ट जारी किया है और स्थानीय प्रशासन से आवश्यक तैयारी करने को कहा है। सार्वजनिक स्थानों पर ठंडे पानी की व्यवस्था, प्राथमिक चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता, और आपातकालीन सेवाओं को सक्रिय रखने के निर्देश दिए गए हैं।

इस स्थिति को देखते हुए, नागरिकों से अनुरोध है कि वे अनावश्यक यात्रा से बचें और घर के भीतर रहें। यदि बाहर जाना आवश्यक हो, तो पर्याप्त सुरक्षा उपाय अपनाएं। लू से बचाव के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना और ठंडी जगहों पर रहना महत्वपूर्ण है। मौसम विभाग द्वारा जारी चेतावनियों और सलाह का पालन करना सभी के लिए सुरक्षित रहेगा।

 

इससे भी पढ़े :- सेहत ही नहीं, आपकी गरीबी भी बढ़ा रहा है!

3 thoughts on “Weather Update: दिल्ली में तापमान 52 डिग्री पार, केरल में भारी बारिश, उत्तर-पूर्व में बाढ़; जानें यूपी-बिहार समेत देशभर का मौसम हाल |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *