Site icon DPN

Stock Market Crash: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 800 अंक टूटकर 80 हजार के नीचे |

Stock Market Crash: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सुबह की तेजी ध्वस्त, सेंसेक्स 750 अंक गिरकर 80,000 के नीचे |

Stock Market Crash: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 800 अंक टूटकर 80 हजार के नीचे |

Stock Market Crash: घरेलू शेयर बाजार भारी दबाव में है और मुनाफावसूली का दबदबा बढ़ता जा रहा है। बीएसई सेंसेक्स 80,000 के महत्वपूर्ण स्तर से नीचे फिसल गया है, जबकि निफ्टी में 250 अंकों की गिरावट दर्ज की गई है। सेंसेक्स में लगभग 800 अंकों की गिरावट देखी गई। बीएसई का बाजार पूंजीकरण सुबह के स्तर 451.83 लाख करोड़ रुपये से घटकर 446.05 लाख करोड़ रुपये पर आ गया है, जिसका अर्थ है कि एक घंटे के भीतर निवेशकों के 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हो चुका है।

Stock Market Crash: बाजार में इस गिरावट का मुख्य कारण मुनाफावसूली को माना जा रहा है, जिससे निवेशकों में बेचैनी बढ़ गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि वर्तमान परिस्थितियों में निवेशकों को सतर्क रहने की आवश्यकता है और जल्दबाजी में निवेश के निर्णय नहीं लेने चाहिए। कई बड़ी कंपनियों के शेयरों में भी भारी गिरावट देखी गई, जिससे बाजार का समग्र माहौल नकारात्मक हो गया है।

इस स्थिति में निवेशकों को सलाह दी जा रही है कि वे बाजार की मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए अपने निवेश को पुनः समीक्षा करें और दीर्घकालिक दृष्टिकोण अपनाएं। मार्केट की चाल पर लगातार नजर रखना और सही समय पर सही निर्णय लेना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

सुबह 10.50 बजे शेयर बाजार का हाल बेहाल 

Stock Market Crash: कमजोर वैश्विक बाजार संकेतों के बीच भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांक में गिरावट दर्ज की जा रही है। सेंसेक्स, जो हाल ही में नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंचा था, अब 80,000 के नीचे फिसल गया है। 767.54 अंक या 0.96 प्रतिशत की गिरावट के साथ, यह अब 79,584 के स्तर पर है। एनएसई का निफ्टी भी 235.70 अंक या 0.96 प्रतिशत टूटकर 24,197 पर आ गया है।

Stock Market Crash: इस गिरावट का मुख्य कारण वैश्विक बाजारों से मिल रहे कमजोर संकेत हैं, जिनका असर भारतीय शेयर बाजार पर भी पड़ा है। निवेशक सतर्कता बरत रहे हैं और बड़ी खरीदारी से बच रहे हैं, जिससे बाजार में दबाव बढ़ रहा है। आर्थिक विश्लेषकों का मानना है कि यह गिरावट अस्थायी हो सकती है, लेकिन इसके लिए वैश्विक बाजारों में सुधार की आवश्यकता होगी।

Stock Market Crash: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 800 अंक टूटकर 80 हजार के नीचे |

Stock Market Crash: बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि वर्तमान समय में निवेशकों को सावधानी बरतने की जरूरत है और उन्हें अपने निवेश निर्णय सोच-समझकर लेने चाहिए। भारतीय बाजार की मौजूदा स्थिति को देखते हुए, यह महत्वपूर्ण है कि निवेशक लंबी अवधि के लिए योजना बनाएं और छोटे-मोटे उतार-चढ़ाव से घबराएं नहीं।

सेंसेक्स में लिस्टेड कंपनियों में से केवल 1 शेयर तेजी पर

Stock Market Crash: सेंसेक्स के 30 शेयरों में से केवल एक शेयर, मारुति, 1.51 प्रतिशत की बढ़त पर है। बाकी 29 शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा, जेएसडब्ल्यू स्टील, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और आईसीआईआई बैंक के शेयर सबसे अधिक नुकसान में हैं। यह गिरावट बाजार में नेगेटिव संकेत के रूप में देखी जा रही है, जिसे वैश्विक बाजारों के अस्थिर होने और आर्थिक संकट के कारण माना जा सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों को इस समय में सतर्क रहना चाहिए और अपने निवेश निर्णय को सावधानीपूर्वक लेना चाहिए।

निफ्टी के 47 शेयरों में गिरावट हावी

Stock Market Crash: एनएसई निफ्टी के 50 शेयरों में से 47 शेयरों में गिरावट दर्ज की गई है, जबकि केवल 3 शेयर – मारुति, ब्रिटानिया, और अपोलो हॉस्पिटल – उछाल के साथ कारोबार कर रहे हैं। बैंक निफ्टी में भी 450 अंकों से अधिक की गिरावट है, और इसमें सभी 12 शेयर गिरावट के साथ ट्रेडिंग कर रहे हैं। यह गिरावट बाजार की सामान्य नकारात्मक वातावरण के चलते हो सकती है, जिसमें वैश्विक अर्थव्यवस्था की दिक्कतें और अनिश्चितता शामिल हैं। निवेशकों को विशेषतः बैंकिंग सेक्टर में ध्यान देने की सलाह दी जा रही है, जहां सभी शेयरों में गिरावट देखी जा रही है।

कैसी रही शेयर बाजार की शुरुआत

Stock Market Crash: भारतीय शेयर बाजार वर्तमान में एक उत्कृष्ट दौर में है और निवेशकों को बहुत ही रोमांचक और लाभदायक मौके मिल रहे हैं। बाजार ने एक बार फिर नए ऐतिहासिक शिखर पर खुला है, और निफ्टी-सेंसेक्स दोनों ही नए रिकॉर्ड स्तरों पर खुलने में सफल रहे हैं। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने 129.72 अंक या 0.16 प्रतिशत की हल्की बढ़त के साथ 80,481.36 पर खुला है, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 26.65 अंक या 0.11 प्रतिशत बढ़कर 24,459.85 के स्तर पर खुला है।

यह उच्च स्तरों पर बाजार के खुलने का संकेत देता है कि निवेशकों के बीच आत्मविश्वास बढ़ रहा है और आर्थिक संगठन के लिए भरोसेमंद माहौल बन रहा है। इस दौरान, निवेशकों को बाजार की स्थिरता और वृद्धि के निरीक्षण में सावधानी बरतने की आवश्यकता है ताकि वे सही निवेश निर्णय ले सकें।

निफ्टी का नया ऑलटाइम हाई लेवल जानें

Stock Market Crash: एनएसई निफ्टी ने एक नया रिकॉर्ड हाई स्तर पर खुलकर इतिहास रच दिया है, जबकि इसने 24,461.05 का नया ऑलटाइम हाई लेवल छू लिया है। सेंसेक्स भी अपने खुलने के स्तर पर ही इसका लाइफटाइम हाई बनाया है। यह बाजार में निवेशकों के बीच उत्साह और आत्मविश्वास को बढ़ावा देता है, जो अपनी निवेश सामर्थ्य को मजबूत करना चाहते हैं।

Stock Market Crash: शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 800 अंक टूटकर 80 हजार के नीचे |

इस तरह की ऊंचाइयों पर बाजार का उच्च उत्साह देखने के बावजूद, निवेशकों को बाजार की स्थिरता और विकास की समीक्षा करते रहना चाहिए, ताकि वे अपने निवेश निर्णयों में सतर्क रह सकें।

BSE का मार्केट कैप बढ़कर हुआ इतना 

Stock Market Crash: BSE का मार्केट कैप अब 451.83 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है, जिसका मूल्यांकन अगर डॉलर में किया जाए तो यह 5.41 ट्रिलियन डॉलर के आसपास है। वर्तमान में बीएसई पर 3172 शेयरों का ट्रेड हो रहा है, जिनमें से 1695 शेयर बढ़त पर ट्रेड हो रहे हैं। 1351 शेयरों में गिरावट देखी गई है, जबकि 126 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है और वे स्थिर हैं। यह बाजार के विभिन्न शेयरों के बीच व्याप्त संचार को दर्शाता है और निवेशकों के बीच रूचि और विश्वास को प्रकट करता है।

9.50 बजे सेंसेक्स और निफ्टी की चाल

Stock Market Crash: बाजार खुलने के आधे घंटे बाद शेयर बाजार में लाल निशान दिख रहा है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) सेंसेक्स 217.41 अंक या 0.27 प्रतिशत की गिरावट के साथ 80,134 पर ट्रेड कर रहा है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) निफ्टी भी 52.85 अंक या 0.22 प्रतिशत की गिरावट के साथ 24,380 के लेवल पर ट्रेड हो रहा है।

ग्लोबल बाजारों का कैसा हाल

Stock Market Crash: एशियाई बाजारों में शंघाई कम्पोजिट इंडेक्स, कोस्पी (South Korea), और निक्केई (Japan) में नुकसान देखा जा रहा है, जबकि हॉन्गकॉन्ग का हैंगसेंग इंडेक्स फायदे में है। अमेरिकी बाजार मंगलवार को मिले-जुले रुख के साथ बंद हुए थे।

इससे भी पढ़े :-

 

Exit mobile version
Skip to toolbar