Sam Pitroda Resigns: सैम पित्रोदा ने दिया इस्तीफा,नस्लीय बयान पर मचा बवाल’नस्लीय बयान पर मचा बवाल’ |

Sam Pitroda Resigns

Sam Pitroda Resigns: सैम पित्रोदा के नस्लीय बयान के बाद, जिसमें उन्होंने हाल ही में अलग-अलग इलाकों में रहने वाले भारतीयों की पहचान को लेकर विवादित टिप्पणी की थी, उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। बीजेपी ने इसका तीव्र आलोचना किया और कांग्रेस को उनके बयान पर सफाई देनी पड़ी।

Sam Pitroda Resigns
Sam Pitroda Resigns

Sam Pitroda Resigns: सैम पित्रोदा का नस्लीय बयान बहुत ही विवादास्पद साबित हुआ। उनके इस बयान ने समाज में गहरी चोट पहुंचाई और उन्हें अनेकों लोगों की आलोचना का सामना करना पड़ा। कांग्रेस पार्टी ने तुरंत इस घटना के बाद उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है। यह घटना सामाजिक और राजनीतिक दृष्टि से गंभीर मानी जा रही है और इससे समाज में आपसी विश्वास की कमी आ सकती है।

Sam Pitroda Resigns:सैम पित्रोदा के इस्तीफे के पीछे उनकी नस्लीय टिप्पणी का विवाद घूमा है। उन्होंने हाल ही में इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। इस इस्तीफे को कांग्रेस ने तुरंत मंजूर भी कर लिया है। इस मुद्दे पर कांग्रेस के प्रमुख नेता जयराम रमेश ने एक्स पर पोस्ट करते हुए जानकारी दी है।

Sam Pitroda Resigns
Sam Pitroda Resigns

Sam Pitroda Resigns: पित्रोदा के इस्तीफे का मुख्य कारण उनकी हाल ही में की गई नस्लीय टिप्पणी है। उन्होंने भारतीयों की पहचान को लेकर की गई टिप्पणी को लेकर सामाजिक और राजनीतिक स्तर पर चर्चा हो रही है। इससे संगठन को नुकसान होने का अनुमान है।

इससे भी पढ़े :-अमेरिका में शहजादे के अंकल रहते हैं, वो चमड़ी का रंग देख रहे हैं” – यह पित्रोदा का नस्लीय बयान ने चर्चा को उगल दिया है, प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर प्रतिक्रिया दी है।

कांग्रेस ने पित्रोदा के इस्तीफे को तुरंत मंजूर किया है, जो दिखाता है कि पार्टी ने उनकी टिप्पणी को गंभीरता से लिया है और उसकी पार्टी की आदर्शों और मूल्यों के साथ मेल नहीं खाने का संकेत दिया है।

नस्लीय बयान देकर BJP के निशाने पर आ गए थे सैम पित्रोदा :

Sam Pitroda Resigns: सैम पित्रोदा के इस्तीफे की वजह जयराम रमेश ने अपनी एक्स पोस्ट में नहीं बताई है। हालांकि उनका ये इस्तीफा हाल ही में दी नस्लीय टिप्पणी से मचे बवाल के बाद आया है। बुधवार को पित्रोदा का एक इंटरव्यू सामने आया जिसमें उन्होंने भारत के पूर्वी इलाकों में रहने वाले भारतीयों के चाइनीज लोगों और दक्षिण भारतीय लोगों के अफ्रीकन लोगों जैसे दिखने की बात कही थी। इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी ने पित्रोदा पर जमकर हमला किया, जिसपर कांग्रेस को सफाई देनी पड़ी और पार्टी ने खुद को पित्रोदा के बयान अलग कर लिया।

web development
web development

Sam Pitroda Resigns: पित्रोदा के बयान ने राजनीतिक दलों के बीच घमासान मचा दिया। उनकी टिप्पणी ने सामाजिक और राजनीतिक विवादों को उभारा और उन्हें विवादों के केंद्र में ले आया। इसके परिणामस्वरूप, पित्रोदा को इस्तीफा देना पड़ा और उन्हें पार्टी से अलग होना पड़ा। इस घटना ने कांग्रेस को भी बड़ा धक्का दिया, क्योंकि उन्हें अपने सदस्यों के बयानों का नियंत्रण बनाए रखने की ज़रूरत होती है।

पित्रोदा के बयान से आहत हुए नॉर्थ ईस्ट के लोग- मेघालय सीएम :

Sam Pitroda Resigns: पित्रोदा के बयान को मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। उन्होंने कहा कि इससे नॉर्थ ईस्ट और देश के अन्य हिस्सों के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। कॉनराड संगमा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को ऐसी अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल भेदभावपूर्ण नजरिया दर्शाता। उन्होंने कहा कि इस बयान से नॉर्थ ईस्ट के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं, इसलिए वे (पित्रोदा) चाहे जो भी कहें, चाहे उन्होंने किसी भी संदर्भ में बात की हो यह ठीक नहीं है।

Sam Pitroda Resigns
Sam Pitroda Resigns

Sam Pitroda Resigns: संगमा ने इस बात को भी उजागर किया कि पित्रोदा के इस बयान से उन्हें बेहद दुख हुआ है और उन्होंने इसे अधिकारिक रूप से निंदित किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे बयानों से समाज में असहमति और असन्तोष होता है जो सामाजिक सद्भाव और सौहार्द के मूल्यों को हानि पहुंचाता है। इससे समाज में भेदभाव और विवाद बढ़ता है और राजनीतिक दलों के बीच विश्वास कम होता है।

मेघालय के मुख्यमंत्री ने आगे कहा, “हमारा देश विविधताओं का देश है और देश का सिद्धांत हमारे लोगों की विविधता पर आधारित है चाहे वह संस्कृति में हो या रंग-रूप में… यही वह है जो भारत को वह बनाता है जो वह है।”

Sam Pitroda Resigns: उन्होंने इस बयान में देश की विविधता को महत्वपूर्ण माना और यह बताया कि भारत का असली सौंदर्य उसकी विविधता में है। वह इस विविधता को संस्कृति, भाषा, धर्म और रंग-रूप में देखते हैं। इस बयान से यह साफ होता है कि भारतीय समाज में समाजिक संगठन और एकता की भावना मौजूद है। उन्होंने इस विविधता को भारत की शक्ति माना और इसे देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका दी।

web development
web development

उनके बयान से यह संदेश मिलता है कि हमें अपने समाज की विविधता को समझना और सम्मान करना चाहिए। भारतीय समाज में हमें सभी धर्म, जाति, भाषा और संस्कृतियों के साथ मिल-जुलकर रहने की ज़रूरत है ताकि हम समृद्ध और समान समाज की दिशा में अग्रसर हो सकें।

क्या कहा था सैम पित्रोदा ने, जिससे मच गया बवाल :

Sam Pitroda Resigns: एक पोडकास्ट इंटरव्यू में सैम पित्रोदा ने भारत के बारे में बात करते हुए कहा, ‘हम भारत जैसे विविधता से भरे देश को एकजुट रख सकते हैं। जहां पूर्व के लोग चाइनीज लोगों जैसे लगते हैं, पश्चिम के लोग अरब जैसे दिखते हैं, उत्तर के लोग गोरों और दक्षिण भारतीय अफ्रीकी जैसे लगते हैं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, हम सभी बहन-भाई हैं। भारत में अलग-अलग क्षेत्र के लोगों के रीति-रिवाज, खान-पान, धर्म, भाषा अलग-अलग हैं, लेकिन भारत के लोग एक-दूसरे का सम्मान करते हैं।’

Sam Pitroda Resigns
Sam Pitroda Resigns

Sam Pitroda Resigns: उनके इस बयान से स्पष्ट होता है कि भारत में विभिन्न सांस्कृतिक और भौगोलिक विविधता है, जिसमें लोगों की भिन्नताएँ हैं। यहां पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण के लोगों की भावनाएं, रहन-सहन और रूचियां अलग-अलग हैं, लेकिन इस विविधता में समृद्धि और एकता का संदेश छिपा है। भारतीय समाज में लोग एक-दूसरे की भिन्नताओं को समझते हैं और सम्मान करते हैं, जो एक सामाजिक समृद्धि की सच्ची निशानी है।

इससे भी पढ़े :- पित्रोदा का विवादित बयान, ‘ईस्ट के लोग चीन जैसे लगते हैं’, ने बीजेपी को घेरा दिया। उनके इस बयान से कांग्रेस ने किनारा किया।

One thought on “Sam Pitroda Resigns: सैम पित्रोदा ने दिया इस्तीफा,नस्लीय बयान पर मचा बवाल’नस्लीय बयान पर मचा बवाल’ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *