Site icon DPN

Rupee Vs Dollar: बाजार की निरंतर वृद्धि के बावजूद रुपये में गिरावट , क्यों नहीं है चिंता और क्या होगा प्रभाव?

Rupee Vs Dollar: रुपये की लगातार गिरावट पर चिंता की कमी और चर्चा का अभाव |

Rupee Vs Dollar: भारतीय रुपये की स्थिति हाल के दिनों में अस्थिर बनी हुई है। आज मंगलवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 83.50 पर स्थिर रहा। विदेशी बाजारों में डॉलर के मजबूत होने से स्थानीय करेंसी पर दबाव बना हुआ है, हालांकि कच्चे तेल की कीमतों में नरमी का असर भी देखा जा रहा है। सोमवार को भी अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 83.50 पर बंद हुआ था। विदेशी मुद्रा कारोबारियों के अनुसार, मिले-जुले वैश्विक संकेतों के चलते रुपया शुरुआती कारोबार में सीमित दायरे में रहा, लेकिन इसमें मजबूती लौटने की उम्मीद जताई जा रही है।

Rupee Vs Dollar: बाजार की निरंतर वृद्धि के बावजूद रुपये में गिरावट , क्यों नहीं है चिंता और क्या होगा प्रभाव?

रुपया एक पैसे बढ़कर खुला

Rupee Vs Dollar: इंटरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया एक पैसे की बढ़त के साथ 83.49 प्रति डॉलर पर खुला। इसके बाद यह 83.49 से 83.51 प्रति डॉलर के बीच सीमित दायरे में कारोबार करता रहा। सुबह नौ बजकर 25 मिनट पर रुपया 83.50 प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था। शुरुआती कारोबार में रुपया सीमित उतार-चढ़ाव के साथ स्थिर बना रहा, जिससे बाजार में कोई बड़ी हलचल नहीं देखी गई। विश्लेषकों के अनुसार, यह स्थिति विदेशी बाजारों में डॉलर की मजबूती और घरेलू बाजार की स्थिरता के कारण बनी हुई है। आगे के संकेतों पर नजर रखने से यह स्पष्ट होगा कि रुपया किस दिशा में आगे बढ़ेगा।

आज बाजार में तेजी का रुपये को मिला सपोर्ट

Rupee Vs Dollar: घरेलू शेयर बाजार ने आज शुरुआती कारोबार में तेजी दिखाई और इससे घरेलू करेंसी को समर्थन मिला। सेंसेक्स आज 80,236.81 के हाई तक पहुंचा, जबकि निफ्टी अपने उच्च स्तर 24,386.55 तक गया है। इस प्रकार, निफ्टी अपने ऑलटाइम हाई 24,401 के बहुत करीब आकर लौट आया है। हालांकि, यहां एक सवाल उठ रहा है कि यदि भारतीय शेयर बाजार में इतनी तेजी है तो देश की करेंसी क्यों निचले दायरे में फंसी हुई है। विशेषज्ञों के मुताबिक, इसके पीछे विदेशी बाजारों की स्थिरता, राजनीतिक और आर्थिक घटनाओं का प्रभाव हो सकता है। इसलिए आने वाले समय में शेयर बाजार की गतिशीलता और करेंसी के बीच के संबंध को गहराई से विचारने की जरूरत है।

रुपये का सबसे निचला स्तर क्या है

Rupee Vs Dollar: पिछले महीने, 20 जून को रुपया ने अपने इंट्राडे ट्रेडिंग में अपना ऑलटाइम लो लेवल 83.62 तक पहुंचा, लेकिन दिन का समापन 83.45 पर हुआ. रुपया का सबसे निचला स्तर 83.48 रहा है, जो क्लोजिंग लेवल से साफ उपर था।

डॉलर इंडेक्स का अपडेट

Rupee Vs Dollar: इस दौरान, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की ताकत को मापने वाला डॉलर इंडेक्स 0.03 प्रतिशत की बढ़त के साथ 105.03 पर पहुंच गया है।

रुपये में बनी रही गिरावट तो कैसा होगा असर

ग्लोबल संकेत और शेयर बाजार के आंकड़े

Rupee Vs Dollar: ग्लोबल ऑयल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड का दायरा 0.28 फीसदी की गिरावट के साथ 85.51 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल पर व्यापार चल रहा था। भारतीय शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) ने सोमवार को कैपिटल मार्केट में लिवाल रहे और 60.98 करोड़ रुपये के मूल्य में शेयर खरीदे।

इससे भी पढ़े :-

Exit mobile version
Skip to toolbar