Nepal Population Data : नेपाल में जनसंख्या वृद्धि पर लगाया गया रोक, चिंताजनक स्थिति |

Nepal Population Data

Nepal Population Data : नेपाल में जनसंख्या वृद्धि की दर में कमी , 0.92 फीसदी प्रति वर्ष यह पिछले 8 दशकों में सबसे कम है |

Nepal Population Data :नेपाल की जनसंख्या वृद्धि लगातार कम हो रही है, जैसा कि राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की रिपोर्ट में बताया गया है। पिछले एक दशक में नेपाल की जनसंख्या वृद्धि दर 0.92 फीसदी प्रति वर्ष है, जो पिछले 8 दशकों में सबसे कम है। इस रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 80 वर्षों के आंकड़ों की तुलना में नेपाल की जनसंख्या वृद्धि सबसे निचले स्तर पर है।

Nepal Population Data
Nepal Population Data

Nepal Population Data : जनसंख्या वृद्धि में यह कमी कई कारणों से हो सकती है, जैसे कि जनसंख्या नियंत्रण के प्रोग्रामों में कमी, शिक्षा और जागरूकता की कमी, महिलाओं के शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं की अभाव, आदि। यह समस्या समाधान के लिए सकारात्मक कदम उठाए जाने की आवश्यकता है, जैसे कि जनसंख्या नियंत्रण के प्रोग्रामों को मजबूत करना, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार करना, महिलाओं के अधिकारों का प्रचार-प्रसार करना, और गरीब और वंचित वर्गों को सामाजिक और आर्थिक सहायता प्रदान करना।

Nepal Population Data : नेपाल की आबादी में वृद्धि की तारीखें एनएसओ के निदेशक धुंडी राज लामिछाने द्वारा दी गई हैं। उन्होंने बताया कि नेपाल की वर्तमान आबादी 29.2 करोड़ है। अप्रैल 2011 से अप्रैल 2021 तक, आबादी में 27 लाख की वृद्धि हुई है।नए आंकड़ों के अनुसार, देश की राष्ट्रीय औसत जीवन प्रत्याशा 71.3 वर्ष है। महिलाओं की जीवन प्रत्याशा 73.8 वर्ष है, जबकि पुरुषों की जीवन प्रत्याशा 68.2 वर्ष है।

web development
web development

Nepal Population Data : यह आंकड़े देश की जनसंख्या के परिवार की जीवन प्रत्याशा में वृद्धि को दिखाते हैं, जो उनके समृद्धि और उत्थान के दिशानिर्देश को प्रकट करते हैं। इसके साथ ही, इन आंकड़ों के माध्यम से सामाजिक और आर्थिक प्रगति की दिशा में भी दृष्टि मिलती है।

इससे भी पढ़े :- एयर इंडिया एक्सप्रेस ने अपने यात्रियों को परेशानी में डाल दिया, इस बार 74 फ्लाइटें कैंसिल की गईं,सरकार ने इस मामले में जवाब मांगा है |

1911 से लगातार हो रही जनगणना

Nepal Population Data : नेपाल में जीवन प्रत्याशा में बढ़ोतरी के साथ-साथ शिशु मृत्यु दर में भी सुधार दिख रहा है। पिछले 4 दशकों में नेपाल की औसत जीवन प्रत्याशा 21.5 वर्ष बढ़ी है। क्षेत्र-वार विश्लेषण के अनुसार, नेपाल के कर्नाली प्रांत में रहने वाले लोगों की जीवन प्रत्याशा 72.5 वर्ष है, जो सबसे अधिक है। उत्तरी प्रांत में जीवन प्रत्याशा 71.5 वर्ष है, जबकि मध्य प्रांत में 71.2 वर्ष और पश्चिमी प्रांत में 70.8 वर्ष है। लुम्बिनी प्रांत में सबसे कम जीवन प्रत्याशा 69.5 वर्ष है।

Nepal Population Data
Nepal Population Data

Nepal Population Data : इसके साथ ही, नेपाल में शिशु मृत्यु दर में भी काफी सुधार हुआ है। 2021 में शिशु मृत्यु दर 17 प्रति 1000 हो गई है, जबकि 2011 में यह 40 प्रति 1000 था। नेपाल ने 1911 से हर 10 साल में राष्ट्रीय जनगणना की है, जो आबादी के तथ्यों को निर्धारित करती है।यह आंकड़े दिखाते हैं कि नेपाल में भी धीरे-धीरे आबादी कम हो रही है, जो जनसंख्या के वृद्धि के प्रति अपेक्षाएं कम कर सकता है। इसी तरह, चीन और जापान में भी जनसंख्या में कमी देखी गई है, जिसमें चीन के एक बच्चे की नीति का भी महत्वपूर्ण योगदान है।

शिशु मृत्यु दर में हुआ सुधार

Nepal Population Data :नेपाल ने शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं। 2011 में यह दर 40 प्रति 1,000 थी, जो कि 2021 में 17 प्रति 1,000 हो गई है। इससे स्पष्ट है कि सरकार के उद्योगों और नेपाल के समाज के संघर्षों के परिणामस्वरूप बच्चों की सुरक्षा और स्वास्थ्य में सुधार हुआ है।साथ ही, प्रजनन दर भी कम हो गई है, जिसमें प्रति महिला 1.94 बच्चे हो गए हैं, जो कि प्रति महिला 2.1 बच्चों के आंकड़े से कम है। यह भी एक सकारात्मक चरण है जो नेपाल की जनसंख्या नियंत्रण और परिवार की अच्छी संरचना की दिशा में है।

web Service
web Service

Nepal Population Data : नेपाल में प्रसव की औसत आयु भी विभिन्न क्षेत्रों में भिन्न है। कर्नाली प्रांत में इसकी औसत आयु 26.9 वर्ष है, जबकि बागमती प्रांत में यह 28.4 वर्ष है। यह आंकड़े उन क्षेत्रों की दिशा में भी दिशा प्रदान करते हैं जो औसत आयु में सुधार की जरूरत हो सकती है, और उन्हें समृद्धि और उत्थान की दिशा में अनुमानित करने में मदद करते हैं।

इससे भी पढ़े :- बीजेपी से इस्तीफा , सूरज पाल अम्मू की नाराजगी के पीछे छुपी वजह |

2 thoughts on “Nepal Population Data : नेपाल में जनसंख्या वृद्धि पर लगाया गया रोक, चिंताजनक स्थिति |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *