Site icon DPN

MUZAFFARPUR NEWS : मंदिर में भक्तों से अवैध वसूली के मामले का सनसनीखेज खुलासा, मुजफ्फरपुर के गरीबनाथ मंदिर में पुजारियों के प्रवेश पर रोक

MUZAFFARPUR NEWS :मुजफ्फरपुर के देवघर कहे जाने वाले गरीबनाथ मंदिर में भक्तों से अवैध वसूली के मामले का सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

MUZAFFARPUR NEWS

MUZAFFARPUR NEWS : इस खबर के बाद, जिला प्रशासन और मंदिर कमेटी ने मंदिर के दो पुजारियों के लिए सख्त कदम उठाए हैं। इस विवाद में, मंदिर के प्रथम पुजारी एवं द्वितीय पुजारी को मंदिर के अंदर प्रवेश करने पर दो साल के लिए रोक लगा दिया गया है।यह मामला भक्तों के बीच चर्चा का विषय बन चुका है। सामाजिक मंचों पर भी लोगों का विरोध दर्ज हो रहा है। इस घटना से समाज में बड़ी हलचल मची है और सवाल उठे हैं कि धार्मिक स्थलों की निगरानी में क्यों नकारात्मक चरित्र के मामले उभर रहे हैं।

इससे भी पढ़े :- कमरे में एसी का तापमान कितना होना चाहिए? बिजली की खपत कम करने के उपाय |

जिला प्रशासन ने इस मामले में सख्ती दिखाई है और निष्पक्ष जांच के आधार पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा, मंदिर कमेटी भी उचित तरीके से संबंधित पुजारियों के प्रति कड़ी नजर रखने का आदेश दिया है।

MUZAFFARPUR NEWS : गरीबनाथ मंदिर न्यास समित के अध्यक्ष सह पंचायती राज विभाग के अपर सचिव मिहिर कुमार सिंह ने एक बैठक का आयोजन किया है। इस बैठक में निर्णय लिया गया है कि मंदिर के पुजारी अभिषेक पाठक और शिबू पाठक पर लगे गंभीर आरोपों को देखते हुए उन्हें 2 वर्षों के लिए मंदिर में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

इस निर्णय के बाद, मंदिर के सिक्योरिटी में लगे पूर्व सैनिकों को चौकस बनाया गया है, ताकि किसी भी अवैध गतिविधि को रोका जा सके। यह निर्णय स्थानीय समुदाय में संतोषप्रद हुआ है, जिससे मंदिर के प्रबंधन में सख्तता का संदेश भी जाता है।

MUZAFFARPUR NEWS : बैठक में लिए गए निर्णय को लेकर सार्वजनिक रूप से भी स्वागत किया जा रहा है, जिससे समुदाय के लोगों में आत्मविश्वास बढ़ेगा कि उनके धार्मिक स्थलों की सुरक्षा में सरकार का संपूर्ण आदर है।

MUZAFFARPUR NEWS : एसडीएम ईस्ट अमित कुमार ने मामले को स्पष्ट करते हुए बताया कि मंदिर के पुजारी अभिषेक पाठक और शिबू पाठक के खिलाफ भक्तों से अवैध वसूली के साथ-साथ उनकी गलत गतिविधियों को भी देखते हुए उन्हें 2 साल के लिए मंदिर में प्रवेश पर रोक लगाई गई है।

MUZAFFARPUR NEWS : इस निर्णय के साथ ही, सुरक्षा में संकट को ध्यान में रखते हुए सिक्योरिटी एजेंसी को भी मंदिर के सुरक्षा को लेकर चौकस रहने का निर्देश दिया गया है। यह कड़ा निर्णय मंदिर के प्रबंधन में बदलाव का संकेत है और स्थानीय समाज में विश्वास की ऊर्जा भी फिर से बढ़ रही है।

MUZAFFARPUR NEWS

इस प्रक्रिया में सावधानी बरतने के साथ, न्यास समित ने भव्य तरीके से समस्या का सामना किया है और समुदाय के अन्य सदस्यों के लिए एक सकारात्मक संदेश भी दिया है।

MUZAFFARPUR NEWS : मंदिर के दान पत्र में रखे जा रहे नोट दान पात्र नहीं खोलने के कारण नोट खराब हो जा रहे थे, जिससे दान की प्रक्रिया में बाधा आ रही थी। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए हर महीने दान पत्र को खोलने का निर्णय लिया गया है।

इससे भी पढ़े :- दिल्ली के शिशु देखभाल केंद्र में भीषण आग, 7 बच्चों की दर्दनाक मौत |

इसके साथ ही, मंदिर न्यास समिति ने शहर में नेत्र चिकित्सालय खोलने का भी विचार विमर्श किया है। इसका मकसद समाज के लोगों के स्वास्थ्य लाभ के लिए समर्पित सेवाएं उपलब्ध कराना है। नेत्र चिकित्सालय का खुलना समाज के स्वास्थ्य देखभाल में एक प्रगति मानी जा रही है, जिससे लोगों के लिए स्वस्थ जीवन के लिए सुविधाएं मिलेंगी।

यह स्वास्थ्य सेवाओं की विकासशीलता को बढ़ावा देने वाला कदम है और समाज के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

 

 

Exit mobile version
Skip to toolbar