Mani Shankar Aiyar Statement: मणिशंकर अय्यर की बयानबाजी: कांग्रेस की नई मुश्किलें, भारत को जागरूक करने का आह्वान |

Mani Shankar Aiyar Statement

Mani Shankar Aiyar Statement: मणिशंकर अय्यर का पाकिस्तान पर बयान: भारत को संज्ञान लेने की जरूरत |

Mani Shankar Aiyar Statement: मणिशंकर अय्यर के इस नए बयान से कई चर्चाओं का आदान-प्रदान हो रहा है। सैम पित्रोदा के बाद अब अय्यर द्वारा पाकिस्तान की प्रशंसा करने का यह पूर्वाग्रह कांग्रेस के लिए नई मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

Mani Shankar Aiyar Statement
Mani Shankar Aiyar Statement

Mani Shankar Aiyar Statement: अय्यर ने अपने इंटरव्यू में भारत को पाकिस्तान के साथ संवाद करने और उन्हें इज्जत देने की बात की है। उन्होंने चेतावनी दी कि पाकिस्तान के पास एटम बम होने के कारण हमें उनको संज्ञान में लेना और उन्हें इज्जत देना चाहिए। अगर हम पाकिस्तान को इज्जत नहीं देते हैं और कोई पागल नेता आक्रमण करता है और उसने परमाणु बम का इस्तेमाल किया तो हम क्या करेंगे, यह अय्यर ने भी चिंता जताई है।

इस बयान से कई राजनीतिक दलों ने अपनी असंतुष्टि जताई है। कुछ लोग इसे कांग्रेस की राजनीतिक धांधली का प्रमाण मान रहे हैं, तो कुछ इसे राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति लापरवाही का संकेत मान रहे हैं। कुछ राजनीतिक दलों ने अय्यर के इस बयान को आत्मघाती समझा है, जो भारत के बाहरी दुश्मनों को मौका दे सकता है। इस पर अय्यर के पक्षकार इसे सिर्फ विचारशीलता की दृष्टि से देख रहे हैं और उनका मानना है कि हर देश को बातचीत के द्वार को खोलना चाहिए।

Mani Shankar Aiyar Statement
Mani Shankar Aiyar Statement

इस अखंड विवाद के बीच, यह अब देखना होगा कि कांग्रेस कैसे इस पर प्रतिक्रिया देती है और कैसे वह अपने नेताओं के बयानों को संज्ञान में लेती है।

Mani Shankar Aiyar Statement:  “पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जिसे भारत को इज्जत देनी चाहिए। उस इज्जत को कायम रखते हुए जितनी कड़ी बातें करनी हैं, कर सकते हैं, लेकिन अगर आप हाथ में बंदूक लेकर घूम रहे हों, तो उससे कुछ हल नहीं निकलने वाला है। इससे केवल तनाव बढ़ेगा।”

web Service
web Service

Mani Shankar Aiyar Statement: उनके इस बयान से सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में विवाद उठ गया है। कुछ लोग इसे समझने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि कुछ इसे भ्रांति और देशद्रोह के रूप में देख रहे हैं। अय्यर का मानना है कि संवाद के माध्यम से ही समस्याओं का हल निकाला जा सकता है, और इसके बिना कोई समाधान संभव नहीं है।

इस विवाद में, अय्यर के बयान का समर्थन करने वाले और उनके खिलाफ आवाज उठाने वाले दोनों ही पक्ष अपने-अपने तर्क और प्रतिक्रियाओं के माध्यम से अपने विचार प्रकट कर रहे हैं। इसके अलावा, यह बयान भारत-पाकिस्तान संबंधों की महत्वपूर्ण विषयों में से एक है, जो कि दोनों देशों के बीच लंबे समय से चल रहे विवादों का केंद्र है।

इससे भी पढ़े :- जानिये क्यों बंद हो सकता है पीएनबी बैंक खाता: बैंक की चेतावनी |

विश्वगुरु बनना है तो मसलों पर बात करनी होगी

Mani Shankar Aiyar Statement: मणिशंकर अय्यर ने कहा कि हमारे पास एटम बम है। यदि हमने उसे लाहौर के स्टेशन पर छोड़ दिया तो केवल 8 सेकेंड लगेंगे और उसकी रेडियो एक्टिविटी अमृतसर तक पहुंच जाएगी। यदि हम विश्वगुरु बनना चाहते हैं तो हमें ये जरूरी है कि कितनी भी बड़ी समस्या हो, उसका हल निकालने के लिए हमें मेहनत करनी होगी, लेकिन पिछले 10 साल से पूरी मेहनत बंद पड़ी है।

Mani Shankar Aiyar Statement: अय्यर के इस बयान से सामाजिक और राजनीतिक दायरे में उथल-पुथल हो गई है। वह इसे एक सत्य के रूप में देखते हैं, जो हमें विश्व नेता बनने की दिशा में आगे बढ़ने के लिए जागरूक करने के लिए महत्वपूर्ण है। उनका मानना है कि विश्व समुदाय को एक साथ लाने के लिए यह जरूरी है कि हम साथ मिलकर बड़ी समस्याओं का समाधान करें।

इस बयान ने विभिन्न धाराओं के बीच विवाद उत्पन्न किया है। कुछ लोग इसे एक चुनौती के रूप में देख रहे हैं, जबकि कुछ इसे एक भ्रांतिपूर्ण बयान मान रहे हैं। अय्यर के समर्थक इसे एक सत्य के रूप में स्वीकार कर रहे हैं, जबकि उनके विरोधी इसे बेतुका और विवादास्पद मान रहे हैं।

 पाकिस्तान की पॉलिसी पर क्या बोले?

Mani Shankar Aiyar Statement: अय्यर ने मसक्यूलर पॉलिसी के सवाल पर कहा कि उनके मसल कहूटा (रावलपिंडी) में पड़े हुए हैं और कोई गलत फहमी हो जाए तो हम इसका बचाव नहीं कर पाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि सभी देशों के बीच संबंध मजबूत होने चाहिए और अपनी राय रखने का अधिकार होना चाहिए। वे यह भी मानते हैं कि दोनों देशों के बीच संवाद को बढ़ावा देना चाहिए, ताकि समस्याओं का समाधान संभव हो सके। अय्यर ने यह भी जताया कि उनका उद्देश्य हमेशा शांति और समरसता को बनाए रखना है।

सैम पित्रोदा ने दिया था विवादित बयान

Mani Shankar Aiyar Statement: कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने बुधवार (8 मई) को एक विवादित बयान दिया। पित्रोदा ने कहा था कि हमारे देश के दक्षिण भारतीय लोग अफ्रीकियों की तरह दिखते हैं और पूर्वोत्तर के लोग चीनी दिखते हैं। उत्तर के लोग व्हाइट तो पश्चिम के लोग अरब वालों की तरह दिखते हैं। इस बयान ने सियासी घमासान मचा दिया।

Mani Shankar Aiyar Statement:  इस बयान के परिणामस्वरूप, भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेताओं में इसके खिलाफ गुस्सा दिखाई दिया। साथ ही, कांग्रेस ने इस बयान को नकार दिया। यह विवादित बयान सामाजिक और राजनीतिक मामलों को और भी ज्यादा उजागर कर गया है।

इस मामले में, लोगों के बीच मतभेदों का दौर शुरू हो गया है। कुछ लोग पित्रोदा के बयान को गलत और विवादास्पद मान रहे हैं, जबकि कुछ उन्हें उनके निजी विचारों का प्रतिनिधित्व करने का हक मान रहे हैं। इस मामले में अब और भी बहस और तरह-तरह के विचार उजागर होने की संभावना है।

 

इससे भी पढ़े :- कांग्रेस से जुड़ी वायरल वीडियो में भगवान राम के पोस्टर को फाड़ने वाली महिलाओं का सच |


Discover more from DPN

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

3 thoughts on “Mani Shankar Aiyar Statement: मणिशंकर अय्यर की बयानबाजी: कांग्रेस की नई मुश्किलें, भारत को जागरूक करने का आह्वान |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Discover more from DPN

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading