Lok Sabha Election 2024: बिहार में बोले असम के CM हिमंत सरमा, ‘मुल्ला बनाने की दुकानों और चार शादियों के धंधे को करेंगे बंद, अगर…’

Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024: चुनाव 2024 , हिमंत बिस्वा सरमा ने घोषणा की, ‘लालू प्रसाद यादव का भारत नहीं, यह मोदी का भारत है, यह हमारा भारत है, यह हिंदुओं का भारत है।

Lok Sabha Election 2024
Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024: असम के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने शनिवार (18 मई 2024) को एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि यदि एनडीए की सरकार 400 सीटों के साथ सत्ता में लौटती है तो उन्हें समान नागरिक संहिता (यूनिफॉर्म सिविल कोड) लाने का इरादा है। इसके साथ ही वह चार बार शादी करने के धंधे को खत्म कर देगी।

बिस्वा सरमा ने यह कदम उठाने का आलंब किया है ताकि एक समान नागरिक संहिता के अंतर्गत सभी लोगों को एक ही तरीके से विवाह और संबंधों के मामलों को नियंत्रित किया जा सके। इससे समाज में समानता और अधिकारों का सहयोग होगा।

Lok Sabha Election 2024: यूनिफॉर्म सिविल कोड के लागू होने से पूरे देश में संबंधों के कानूनी मामलों में एकता और स्पष्टता आएगी। इससे न्यायपूर्ण और सुव्यवस्थित समाज की स्थापना में मदद मिलेगी और लोगों के अधिकारों की सुरक्षा होगी।

Lok Sabha Election 2024: सीवान के रघुनाथपुर में शनिवार को एक जनसभा में हिमंत बिस्वा सरमा ने एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने मदरसों की ओर इशारा करते हुए कहा कि वे मुल्ला पैदा करने वाली दुकानें बंद करेंगे और मुस्लिम आरक्षण खत्म करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने इस बात की भी सूचना दी कि अगर मोदी को 400 सीटें मिल जाती हैं तो वे समान नागरिक संहिता लाएंगे और चार शादी करने की दुकानें बंद कर देंगे।

web development
web development

उन्होंने इसे अपने पिछले कार्यकाल की याद दिलाकर कहा कि ठीक वैसे ही जैसे उन्होंने अपने क्षेत्र में इस तरह के कार्यों को खत्म किया था। इस बयान से समाज में असमानता के विवादों को बढ़ावा मिल रहा है। उनके इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया आ रही है और इसे राजनीतिक दृष्टिकोण से भी विवादास्पद माना जा रहा है।

इससे भी पढ़े :- बिहार की पांच सीटों पर आज थम जाएगा चुनाव प्रचार, इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर |

असम में मैंने बंद किए 700 मदरसे

Lok Sabha Election 2024: असम के सीएम ने आगे कहा कि अब देश बदल गया है। उन्होंने याद किया कि जब वे तीन साल पहले असम में मुख्यमंत्री बने थे, तो एक अधिकारी ने एक फाइल लेकर मुख्यमंत्री से हस्ताक्षर मांगने के लिए आए थे। वह फाइल मदरसा शिक्षकों के वेतन के बारे में थी। इस पर सीएम ने पूछा कि मदरसा क्या है? जिस पर उस अधिकारी ने उत्तर दिया कि वह जगह है जहां मुल्ला बनते हैं। उन्होंने यह बात बताते हुए कहा कि देश बदल गया है, और अब ऐसे हस्ताक्षर के लिए अधिकारी नहीं आते।

Lok Sabha Election 2024: मैंने उस अधिकारी से कहा कि आप हमारा पैसा मुल्ला पैदा करने वाली दुकान को देंगे, ये कैसे हो सकता है? आज से यह दुकान बंद करो। असम में हमने 700 मदरसों को बंद कर दिया है, लेकिन किसी की आवाज उठाने की हिम्मत नहीं हुई। क्योंकि यह नया भारत है। यह लालू प्रसाद यादव का भारत नहीं है। यह मोदी का भारत है, यह हमारा भारत है, यह हिंदुओं का भारत है और जो भी इस नए भारत से टकराएगा, वह यमराज के घर पहुंच जाएगा। यहाँ तक कि उस अधिकारी के इरादे में दोगुनी और तिगुनी तरह की नए रूपयों के नोट बनाने की चर्चा हो रही है, जो वे बताते हुए कहते हैं कि यह नया भारत है, जहां एक धार्मिक तालिबान को अपने धर्म के लिए पैसा देने के लिए लोग तैयार हो सकते हैं।

‘400 सीटें दीजिए, हमें बहुत काम करना है’

Lok Sabha Election 2024: हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि हम अब मुल्ला बनाने वाली दुकानें नहीं चलने देंगे। हम डॉक्टर, इंजीनियर बनाने का काम करेंगे। मोदी जी को 400 सीटें चाहिए। हमें समान नागरिक संहिता लाने की जरूरत है, हमें कृष्ण जन्मभूमि बनाने की जरूरत है, हमें ज्ञानवापी मंदिर बनाने की जरूरत है, हमें मुसलमानों के लिए आरक्षण खत्म करने की जरूरत है।

Lok Sabha Election 2024
Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024: उन्होंने यह स्पष्ट किया कि नये भारत में मुल्ला बनाने वाली दुकानें नहीं चलेंगी, और वे अपने प्रयासों से लोगों को डॉक्टर, इंजीनियर जैसे विभिन्न क्षेत्रों में साक्षम बनाने की दिशा में काम करेंगे। साथ ही, उन्हें समान नागरिक संहिता, कृष्ण जन्मभूमि, ज्ञानवापी मंदिर बनाने, और मुसलमानों के लिए आरक्षण को समाप्त करने की जरूरत है और इसके लिए उन्हें भारी समर्थन दिया जा रहा है।

सीवान में त्रिकोणीय है मुकाबला

Lok Sabha Election 2024: सीवान लोकसभा सीट से एनडीए की ओर से जदयू उम्मीदवार विजय लक्ष्मी देवी, राष्ट्रीय जनता दल से अवध बिहारी चौधरी और राष्ट्रीय जनता दल की बागी और निर्दलीय उम्मीदवार हीना साहब चुनाव मैदान में हैं। हीना साहब शहाबुद्दीन की पत्न हैं। इस लोकसभा सीट के लिए ये सभी प्रत्याशी एक-दूसरे के विरोधी हैं और चुनावी मैदान में मुकाबले के लिए तैयार हैं।

Lok Sabha Election 2024
Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024: विजय लक्ष्मी देवी ने जदयू का पूर्व सांसद हैं और उन्हें बड़ा चुनाव मैदान जानकर का अनुभव है। अवध बिहारी चौधरी ने पिछले कई सालों से राजनीति में अपना कदम रखा है और उनका नाम सीवान में विख्यात है। हीना साहब ने भी राजनीति में अपना यश बनाया है और उनकी विशेषता यह है कि वह एक निर्दलीय उम्मीदवार हैं। इस चुनाव में सीवान सीट पर ये तीनों प्रत्याशी एक दूसरे को हराने के लिए मेहनत कर रहे हैं।

 

इससे भी पढ़े :- पांचवें चरण के मतदान के कारण इन शहरों में सोमवार को बैंक शाखाएं रहेंगी बंद |

2 thoughts on “Lok Sabha Election 2024: बिहार में बोले असम के CM हिमंत सरमा, ‘मुल्ला बनाने की दुकानों और चार शादियों के धंधे को करेंगे बंद, अगर…’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *