Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: लोकसभा चुनाव 2024,वेस्ट बंगाल में सियासी उत्तेजना! BJP उम्मीदवार हिरण्मय चटर्जी के साथ पुलिस की रेड 3 दिन पहले चुनाव से |

Hironmoy Chatterjee's PA House Raid

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: लोकसभा चुनाव 2024 , 25 मई को संसदीय सीटों पर छठे चरण के मतदान होंगे, मतदान से पहले पुलिस का एक्शन देखने का इंतजार |

Hironmoy Chatterjee's PA House Raid
Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: हिरण्मय चटर्जी के पीए हाउस रेड, पश्चिम बंगाल में सियासत में नए उतार-चढ़ाव की संभावना है। बुधवार को (22 मई) बंगाल पुलिस ने घाटल संसदीय सीट से बीजेपी उम्मीदवार हिरण्मय चटर्जी के पीए हाउस पर छापेमारी की। इस छापेमारी की घटना उस समय हुई, जब सिर्फ तीन दिन बाद, अर्थात 25 मई को यहां चुनाव हैं। पश्चिम बंगाल पुलिस बुधवार को तमोघ्नो डे के पीए हाउस में दोपहर 2.30 बजे आई और छापेमारी शुरू की। पुलिस ने घाटल के साथ ही दूसरे दो बीजेपी नेताओं के घरों को भी छापा। इस संदर्भ में, समाचारों के अनुसार, हिरण्मय चटर्जी के संबंधित आरोपी गवर्नर ओफिसर थे, जिन्हें आरोपित बचाव में आजिजुल कर जेल में हो गए हैं।

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid : हिरण्मय चटर्जी के पीए तमोघ्नो डे की मां ने बताया कि जब पुलिस घर आई, तो उन्होंने दरवाजा नहीं खोला। उन्होंने कहा कि वह उस समय अकेले थीं, जिस वजह से उन्हें दरवाजा खोलने की सही जरूरत नहीं लगी। तमोघ्नो डे की मां ने यह भी कहा कि उनके बेटे का सिर्फ एक गुनाह है – वह हिरण्मय चटर्जी के साथ रहते हैं, जिसके कारण पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई की है।

इस मामले में, बीजेपी का कहना है कि इसका नतीजा टीएमसी पर टोप हो सकता है। यह मामला पश्चिम बंगाल में सियासी गर्माहट को और बढ़ा सकता है।

इससे भी पढ़े :- क्या बिहार के सरकारी स्कूलों में फिर से होगी गर्मी की छुट्टी? राजभवन के पत्र से बढ़ी केके पाठक की चिंता |

छापेमारी के बाद सुबह घर से बाहर निकली बंगाल पुलिस

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: मिली जानकारी के अनुसार, घाटल पुलिस स्टेशन और खड़गपुर पुलिस स्टेशन के अधिकारी हिरण्मय चटर्जी के पीए के घर पहुंचे थे छापेमारी के लिए। छापेमारी के बाद, जब पुलिस अधिकारी सुबह 6.30 बजे छापेमारी करने के बाद घर से निकले, तब वहाँ तीनों की व्यवस्था शांतिपूर्ण थी।

web development
web development

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raidछापेमारी के बाद, जब पुलिस अधिकारी सुबह 6.30 बजे छापेमारी करने के बाद घर से निकले, तब वहाँ तीनों की व्यवस्था शांतिपूर्ण थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि वे वहाँ सुरक्षा के लिए थे, जबकि बीजेपी नेता और उनके परिवार के सदस्यों ने बताया कि यह छापेमारी राजनीतिक विरोध की साजिश है।

इस खबर में, बीजेपी नेता सौमेन मिश्रा और तन्मय घोष के नाम आये हैं, जिनके घरों पर भी पुलिस की छापेमारी हुई।

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raidइस समय पर बंगाल पुलिस की छापेमारी का ध्यान वाला मामला है, क्योंकि यह समय है जब राज्य में लोकसभा चुनाव का मतदान हो रहा है। पांच चरणों का चुनाव पूरा हो चुका है और अब छठे चरण की तैयारी चल रही है। छठे चरण का मतदान 25 मई को होने वाला है, और घाटल में भी उसी दिन वोटिंग का आयोजन होगा।

इस छापेमारी की घटना के पीछे के कारणों का विश्लेषण और समाचार प्रबंधन के प्रति लोगों की नजर बनी है। यह भी देखने को मिल रहा है कि क्या इसका प्रभाव चुनाव पर पड़ेगा या नहीं। छापेमारी की यह घटना इस समय के राजनीतिक परिदृश्य में एक नई दिशा देने का संकेत हो सकती है।

मुझे सुरक्षाकर्मियों ने निकाला बाहर: बीजेपी नेता

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: लॉकेट चटर्जी ने बताया कि उन्होंने शाम को प्रचार करने का काम किया था। साढ़े नौ बजे वे एक काली पूजा के समारोह में शामिल हो गए थे। वहां, उन्होंने अपनी पार्टी की नीतियों और कार्यक्रमों का जिक्र किया और लोगों से बातचीत की।इस समारोह में भाग लेने से पहले, वे स्थानीय लोगों के साथ उनके समस्याओं को सुना और उनके समर्थन के लिए धन्यवाद व्यक्त किया। इसके साथ ही, उन्होंने अपनी पार्टी के वादों और कार्यों के बारे में भी चर्चा की।

web development
web development

इस घटना में उनके बयान से स्पष्ट होता है कि उनका प्रचार सभी जनसमुदायों तक पहुंचने के लिए सक्रिय रहा है। वे लोगों के बीच गए इस समारोह को एक महत्वपूर्ण अवसर मानते हैं जहां उन्हें लोगों की प्रतिक्रियाओं को समझने और उनके मसौदों को समर्थन देने का मौका मिला।

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: मुझे बाद में पता चला कि टीएमसी के कई नेताओं के नेतृत्व में मुझ पर हमला किया गया है। मैं टीएमसी के भ्रष्टाचार को उजागर कर रही हूं, इसलिए ये लोग मुझे मारने की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने मेरी कार पर हमला किया, जिससे मेरा सुरक्षित निकलना मुश्किल हो गया। मेरी सबसे बड़ी चिंता ये थी कि मेरी सुरक्षा का ख्याल नहीं रखा जा रहा।

मेरी आर्थिक ज़िंदगी भी खतरे में थी, क्योंकि वहां उन्होंने मेरी कार को तोड़ा और मुझे धमकियाँ भी दी। मैंने इसका आरोप टीएमसी पर लगाया है कि वे मुझे चुनावी दंगल में हराने के लिए ऐसे हमले कर रहे हैं। इसके बावजूद, मैं आज भी अपनी निष्कर्षों पर टिकी हूं और टीएमसी के भ्रष्टाचार का खुलासा करने की दिशा में आगे बढ़ने का वादा करती हूं।

TMC का नहीं है कोई लेना-देना

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: भाजपा नेताओं के आरोप के बाद टीएमसी ने इस घटना में अपनी भूमिका से इनकार किया है और दावा किया है कि आम लोग निर्वाचन क्षेत्र में उनकी सक्रिय भूमिका में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह दावा केवल भाजपा के चुनावी संकेतों को बढ़ावा देने के लिए किया गया है और यह सच्चाई से दूर है।

Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: टीएमसी के नेता ने कहा कि वे हमेशा से जनता की सेवा में लगे रहे हैं और उनकी कोई भी ऐसी कार्यवाही नहीं है जो विश्वासघात कर सके। उन्होंने भाजपा के आरोपों को बेबुनियाद और राजनीतिक षड्यंत्र समझा है।

Hironmoy Chatterjee's PA House Raid
Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid

इस घटना से सामान्य लोगों की नजर में राजनीतिक घमासान और पार्टीयों के आपसी तनावों की खिलवाड़ की तस्वीर बनी हुई है। इसके बावजूद, चुनावी माहौल में ऐसी घटनाओं का समर्थन नहीं किया जा सकता है और उन्हें विचारशीलता से समझा जाना चाहिए।

 

इससे भी पढ़े :- बिहार में BPSC उत्तीर्ण शिक्षकों की नौकरी पर क्या होगा फैसला? शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई


Discover more from DPN

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

3 thoughts on “Hironmoy Chatterjee’s PA House Raid: लोकसभा चुनाव 2024,वेस्ट बंगाल में सियासी उत्तेजना! BJP उम्मीदवार हिरण्मय चटर्जी के साथ पुलिस की रेड 3 दिन पहले चुनाव से |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Discover more from DPN

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading