Site icon DPN

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: दिल्ली के शिशु देखभाल केंद्र में भीषण आग, 7 बच्चों की दर्दनाक मौत |

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: अग्निकांड में फंसे 12 नवजातों को फायर डिपार्टमेंट ने रेस्क्यू किया, लेकिन 7 की जान बची; 5 अस्पताल में भर्ती और एक वेंटिलेटर पर.

Delhi Children Hospital Fire Tragedy

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: शनिवार देर रात दिल्ली के एक बच्चों के अस्पताल में भीषण आग लगने से 7 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। फायर डिपार्टमेंट के अनुसार, इस हृदयविदारक घटना में कुल 12 बच्चों को बचाया गया था, लेकिन उनमें से 7 की जान नहीं बच सकी। बाकी 5 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से एक गंभीर स्थिति में वेंटिलेटर पर है।

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: फायर डिपार्टमेंट ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आग पर काबू पाने की कोशिश की और बचाव कार्य में जुट गए। आग लगने के कारणों की जांच जारी है, लेकिन शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार, शॉर्ट सर्किट इसकी वजह हो सकती है। घटना के बाद अस्पताल और शहर में शोक की लहर दौड़ गई है।

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: अस्पताल प्रशासन ने पीड़ित परिवारों को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है और इस मामले की पूरी जांच के आदेश दिए हैं। इस दुखद घटना ने अस्पतालों में सुरक्षा मानकों और अग्नि सुरक्षा उपायों पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं।

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: लोगों ने सोशल मीडिया पर भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं और इस त्रासदी से प्रभावित परिवारों के प्रति अपनी सहानुभूति प्रकट की है। इस घटना ने एक बार फिर अस्पतालों में अग्नि सुरक्षा उपायों को सख्त करने की जरूरत को रेखांकित किया है।

web Service

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: फायर डिपार्टमेंट ने बताया कि शनिवार (25 मई) देर रात 11:32 बजे पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार स्थित एक बेबी केयर सेंटर में आग लगने की सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही तुरंत 9 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां घटनास्थल पर भेजी गईं। अधिकारियों ने बताया कि आग लगने के बाद 12 नवजात शिशुओं को इमारत से बाहर निकाल लिया गया था, लेकिन इलाज के दौरान 7 शिशुओं की मौत हो गई। एक बच्चे समेत 6 और शिशुओं का अभी भी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

इससे भी पढ़े :- चुनाव के दौरान मुस्लिम आरक्षण पर राजनीति क्यों गरमाई, संविधान का क्या है रुख? जानिए विस्तार से |

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: घटना के बाद फायर ब्रिगेड ने तेजी से काम करते हुए आग पर काबू पाया और बचाव कार्य को अंजाम दिया। आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है, हालांकि प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, यह आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी हो सकती है। इस हादसे ने इलाके में शोक की लहर फैला दी है और पीड़ित परिवारों को गहरा दुख पहुंचाया है।

अस्पताल प्रशासन ने प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया है और घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं। इस हादसे ने अस्पतालों में सुरक्षा मानकों को और सख्त करने की आवश्यकता को उजागर किया है।

आग लगने के कारणों का नहीं चला पता

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: अभी तक इस बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है कि अस्पताल में आग कैसे लगी. दिल्ली पुलिस और फायर डिपार्टमेंट ने इस घटना की जांच शुरू कर दी है। वे आग के लगने के संभावित कारणों को ध्यान से जांच रहे हैं ताकि इस हादसे की वास्तविक वजह का पता लगा सकें।

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: इस घटना के बाद, सुरक्षा मानकों को और मजबूत करने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं ताकि ऐसी घटनाएं न हों और लोगों को सुरक्षित रखा जा सके। दिल्ली में इस तरह की घटनाएं अत्यंत दुखद और चिंताजनक होती हैं, और सरकारी अधिकारियों ने जल्दी से जल्दी इस मामले का समाधान करने की दिशा में कदम उठाए हैं।

प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता दी जा रही है और उनके दुख को समझा जा रहा है। आग के लगने से जान गई बच्चों के परिवारों को भी विशेष रूप से सम्मान और सहानुभूति का पर्व है।

इससे भी पढ़े :-  राजकोट में पेट्रोल-डीजल से हुई आग, NOC के बिना चल रहा था ‘गेम जोन’…अग्निकांड का खुला ‘राज’।

शाहदरा में भी एक बिल्डिंग में देर रात लगी आग

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: दिल्ली के शाहदरा इलाके के आज़ाद नगर वेस्ट में एक आवासीय बिल्डिंग में आग लगने की सूचना मिली थी। इसके बाद दमकल विभाग की कई गाड़ियां भेजी गईं और 13 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। खुशखबरी यह है कि किसी कोई हताहत नहीं हुआ और सभी को प्राथमिक इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया।

Delhi Children Hospital Fire Tragedy

Delhi Children Hospital Fire Tragedy: फायर डिपार्टमेंट ने बताया कि शनिवार और रविवार की दर्मियानी रात में करीब 2.35 बजे उन्हें आग की सूचना मिली, जिसके बाद तुरंत 5 फायर ब्रिगेड को घटनास्थल पर रवाना किया गया। सुरक्षा कर्मियों ने तेजी से काम करते हुए आग पर काबू पाया और लोगों को सुरक्षित कर लिया। इस हादसे में किसी कोई चोट नहीं आई है और सभी को चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराई गई है।

 

इससे भी पढ़े :- कमरे में एसी का तापमान कितना होना चाहिए? बिजली की खपत कम करने के उपाय |

Exit mobile version
Skip to toolbar