Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल का प्रकोप शुरू, लैंडफाल की प्रक्रिया जारी; बांग्लादेश में नाव दुर्घटना, 50 से अधिक यात्री सवार, एक की मौत |

Cyclone Remal Live

Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल के कारण पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना , मौसम विभाग |

Cyclone Remal Live
Cyclone Remal Live

Cyclone Remal Live: बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने निम्न दबाव प्रणाली ने चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का रूप ले लिया है। इस तूफान के रविवार, 26 मई की आधी रात को पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के खेपुपारा के बीच समुद्र तट से टकराने की संभावना है। इस संभावित खतरे को देखते हुए, कोलकाता एयरपोर्ट को रविवार से बंद कर दिया गया है ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके।

भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि चक्रवात रेमल के कारण भारी बारिश की संभावना है। तूफान के समय हवा की रफ्तार 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है, और कुछ जगहों पर यह 135 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी पहुंच सकती है। ऐसे में, पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।इस गंभीर स्थिति को ध्यान में रखते हुए, मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे रविवार को समुद्र में न जाएं। चक्रवाती तूफान के कारण समुद्र में ऊँची लहरें उठने और तेज हवाओं के चलने का खतरा बना हुआ है, जो मछुआरों के लिए अत्यंत खतरनाक हो सकता है।

इसके अलावा, स्थानीय प्रशासन ने तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षित स्थानों पर जाने के निर्देश दिए हैं। आवश्यक तैयारियों के तहत, राहत और बचाव दलों को तैयार रखा गया है ताकि किसी भी आपात स्थिति में तत्काल सहायता पहुँचाई जा सके।

चक्रवात रेमल के प्रकोप से निपटने के लिए राज्य सरकारों ने भी पूरी तैयारियां कर ली हैं। संभावित प्रभावित क्षेत्रों में बिजली और संचार व्यवस्था को मजबूत किया जा रहा है ताकि किसी भी बाधा की स्थिति में राहत कार्यों में दिक्कत न आए। इस प्रकार, सभी संबंधित एजेंसियां और नागरिक सुरक्षा बल पूरी सतर्कता के साथ स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

Cyclone Remal Live
Cyclone Remal Live

Cyclone Remal Live: मौसम विभाग ने बताया है कि रेमल तूफान का सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल पर पड़ने वाला है, क्योंकि यह तूफान सागर द्वीप से टकराने वाला है। तूफान के कारण पश्चिम बंगाल, तटीय बांग्लादेश, त्रिपुरा और पूर्वोत्तर भारत के कुछ राज्यों में भारी बारिश की संभावना है। इस दौरान लोगों को तेज हवाओं का भी सामना करना पड़ेगा। समुद्र तट के पास रहने वाले लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी गई है।

Cyclone Remal Live: पश्चिम बंगाल के अधिकारियों ने तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है। निचले इलाकों से भी लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। तूफान पर कड़ी नजर रखी जा रही है और उसकी हर गतिविधि की मॉनिटरिंग की जा रही है। एनडीआरएफ के जवानों को भी तैनात कर दिया गया है ताकि आपात स्थिति में तुरंत सहायता प्रदान की जा सके। लोगों को बिना किसी आवश्यक कारण के समुद्र तट की ओर न जाने की सलाह दी गई है।

इस प्रकार, राज्य सरकार और संबंधित एजेंसियां रेमल तूफान के संभावित प्रभावों से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव कदम उठा रही हैं।

14:09 PM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: कोलकाता में फिर बिगड़ा मौसम

कोलकाता में रेमल तूफान के चलते फिर से मौसम खराब हो गया है। इसके कारण एयरपोर्ट पर फ्लाइट संचालन रोक दिया गया है और कई फ्लाइट्स को डायवर्ट किया गया है। बताया जा रहा है कि तूफानी हवाओं के चलते एयरपोर्ट पर उड़ानों के संचालन में दिक्कत आ रही है।

——————————————————————————————————————————————————————————–

14:07 PM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: रेमल तूफान से अब तक चार की मौत

पश्चिम बंगाल में रेमल तूफान से अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। बर्धवान में पिता-पुत्र की मौत घर में गिरे पेड़ को हटाने के दौरान करंट लगने से हुई। इससे पहले, एक महिला की मौत पेड़ गिरने से और एक व्यक्ति की मौत मकान का हिस्सा गिरने से हुई थी।
——————————————————————————————————————————————————————————–

11:34 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: NDRF ने कसी कमर

चक्रवात रेमल पर NDRF लगातार नजर बनाए हुए है। पश्चिम बंगाल में एजेंसी ने 14 रेस्क्यू टीमें तैनात की हैं। इसके अलावा, कई स्थानीय एजेंसियां भी साथ में काम कर रही हैं। सभी एजेंसियां मिलकर प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्यों को अंजाम दे रही हैं।

——————————————————————————————————————————————————————————–

10:44 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: बंगाल में अब तक 2 लोगों की मौत

बंगाल में चक्रवाती तूफान के कारण अब तक 2 लोगों ने जान गंवाई है। एक 80 साल की महिला को पेड़ गिरने से मौत हो गई। पहले ही तेज बारिश में एक व्यक्ति की जान चली गई थी जब उसके घर का हिस्सा गिर गया था।

——————————————————————————————————————————————————————————–

10:18 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: एयरपोर्ट पर ऑपरेशन शुरू, ट्रेनें भी चलने लगीं

कोलकाता एयरपोर्ट पर ऑपरेशन शुरू हो गया है। हालांकि, कुछ उड़ानों में देरी है। वहीं, रेलवे स्टेशनों पर ट्रेनों का भी आना शुरू हो गया है। हालांकि, कुछ जगह जलभराव की खबरें आ रही हैं।

——————————————————————————————————————————————————————————–

10:15 AM (IST)  •  27 May 2024

संदेशखाली में कई पेड़ गिरे, सड़कें साफ करने में जुटी NDRF

24 नॉर्थ परगना में भी चक्रवाती तूफान रेमल का असर दिखा। यहां के संदेशखाली में तूफानी हवाओं और बारिश के चलते कई पेड़ गिर गए। एनडीआरएफ की टीम लगातार सड़कों को साफ करने में जुटी है।

——————————————————————————————————————————————————————————–

09:42 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: राज्यपाल सीवी बोस ने लिया जायजा

कोलकाता में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने राजभवन के रैपिड एक्शन फोर्स के साथ चक्रवात ‘रेमल’ से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और हालात का जायजा लिया।
——————————————————————————————————————————————————————————–

09:30 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: कहां कहां तूफान का असर

रेमल तूफान की दस्तक के बाद पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा, नगालैंड, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश समेत कई राज्यों में अलर्ट जारी किया है। पश्चिम बंगाल में भारी बारिश और तूफानी हवाएं चल रही हैं। ऐसे में राज्य के कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। बंगाल में एक लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। रेमल का असर बांग्लादेश में भी देखने को मिल रहा है। यहां से 8 लाख लोगों को शिफ्ट किया गया है।


09:28 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवात से तबाही जारी

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना के पसुंदरबन में चक्रवात ‘रेमल’ के टकराने के बाद कई पेड़ उखड़ गए। चक्रवात ‘रेमल’ के टकराने के बाद कल रात पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में भारी बारिश और तेज हवाएं चल रही हैं।

——————————————————————————————————————————————————————————–

08:24 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: पेड़ उखड़े, घरों की छतें उड़ीं

पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान रेमल का सोमवार को भी असर दिखा. यहां 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं. रेमल के चलते कोलकाता समेत कई जगहों पर तूफानी हवाओं के साथ भारी बारिश हुई. इसके चलते कच्चे घरों की छतें उड़ गईं, बिजली के खंबे टूट गए. इतना ही नहीं हवा की रफ्तार इतनी तेज थी कि पेड़ भी उखड़ गए।

——————————————————————————————————————————————————————————-
07:50 AM (IST)  •  27 May 2024

Kolkata Rain: कोलकाता में भारी बारिश के बाद कई जगहों पर जलभराव

चक्रवाती तूफान रेमल की लैंडिंग के बाद से ही कोलकाता में भारी बारिश जारी है। बारिश के चलते कोलकाता के कई इलाकों में जलभराव हो गया है। इतना ही नहीं, तूफानी हवाओं के चलते कई जगह पेड़ उखड़ गए हैं। इसके चलते कई सड़कें जाम हो गई हैं। एनडीआरएफ समेत तमाम एजेंसियां इन्हें हटाने के काम में जुटी हैं।


07:00 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: बंगाल के कई शहरों में भारी बारिश

पश्चिम बंगाल: कोलकाता शहर के कई हिस्सों में लगातार बारिश जारी है। चक्रवात रेमल कुछ और समय तक लगभग उत्तर की ओर और फिर उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ता रहेगा और आज सुबह तक धीरे-धीरे कमजोर हो जाएगा।


06:58 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: असम, त्रिपुरा समेत इन राज्यों में अलर्ट

भयानक चक्रवाती तूफान रेमल के आने से पहले विभिन्न पूर्वोत्तर राज्यों में आपदा प्रबंधन अधिकारियों और सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है और जिला प्रशासनों को अग्रिम एहतियाती कदम उठाने के लिए कहा गया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के पूर्वानुमान के अनुसार, चक्रवात रेमल रविवार आधी रात को तट पार कर सकता है। इस कारण पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के खेपुपारा के बीच भूस्खलन होने का अनुमान है। इस समय चक्रवात केंद्र के आसपास 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। रफ्तार 135 किमी प्रति घंटे तक बढ़ सकती है। असम, मेघालय, त्रिपुरा, मणिपुर और मिजोरम सरकारों ने अलग-अलग सलाह जारी की है और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल, जिला प्रशासन और अन्य संबंधित विभागों को अधिकतम सतर्क रहने और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा कि आईएमडी ने 27 और 28 मई को असम के साथ-साथ अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।
——————————————————————————————————————————————————————————–
06:41 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: रेमल ने तबाही मचाई शुरू की

पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप पर भी चक्रवात रेमल का असर दिख रहा है। यहां भारी बारिश और तेज हवाओं के चलते कई पेड़ उखड़ गए। एनडीआरएफ की टीम सड़कों को साफ करने में जुट गई है।


06:39 AM (IST)  •  27 May 2024

Cyclone Remal Live: कोलकाता में तूफानी हवाओं के साथ भारी बारिश

चक्रवात रेमल ने रविवार देर रात बांग्लादेश के मोंगला के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से से होते हुए भारत के पश्चिम बंगाल तट को पार करना शुरू कर दिया। चक्रवात का असर कोलकाता, हावड़ा, हुगली और पूर्व मेदिनीपुर, सुंदरबन और काकद्वीप, दक्षिण 24 परगना जिले में हैं। इन जगहों पर रविवार रात से ही तूफानी हवाओं के साथ भारी बारिश जारी है। इसके सोमवार को और तेज होने की संभावना है। कोलकाता में मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वी क्षेत्र के प्रमुख सोमनाथ दत्ता ने कहा कि दक्षिण बंगाल के कई जिलों में 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी, जिससे कोलकाता, हावड़ा, हुगली और पूर्व मेदिनीपुर प्रभावित होंगे।


23:01 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बांग्लादेश में चक्रवात रेमल से एक शख्स की मौत

Cyclone Remal Live:  बांग्लादेश के अधिकारियों ने बताया कि तूफान के कारण एक युवक की मौत हो गई, जब समुद्री लहरें उसे बहा ले गईं। दक्षिण-पूर्वी पटुआखाली में कई लोग घायल हो गए हैं। पुलिस के अनुसार, क्षमता से दोगुने, 50 से अधिक यात्रियों से भरी एक नौका तूफान के रास्ते में मोंगला बंदरगाह के पास डूब गई। इसमें सवार लोग सुरक्षित स्थान की ओर भागने की कोशिश कर रहे थे।

हालांकि, अधिकांश यात्रियों को बचा लिया गया है, लेकिन उन्हें कुछ चोटें आई हैं। स्थानीय प्रशासन और बचाव दलों ने तत्काल राहत कार्य शुरू कर दिए हैं और घायलों को चिकित्सा सहायता प्रदान की जा रही है। अधिकारियों ने लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षित स्थानों पर शरण लेने की सलाह दी है। इस कठिन परिस्थिति में, सभी संबंधित एजेंसियां और नागरिक सुरक्षा बल पूरी मुस्तैदी से काम कर रहे हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों की जान बचाई जा सके और उन्हें सुरक्षित रखा जा सके।


22:59 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बांग्लादेश से बंगाल पहुंचा चक्रवात रेमल

मौसम विभाग के एक प्रवक्ता ने संवाददाताओं को बताया, “चक्रवात ने रात लगभग 8:30 बजे (स्थानीय समय) बांग्लादेश के मोंगला और खेपुपारा तट के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से से होते हुए भारत के पश्चिम बंगाल तट को पार करना शुरू कर दिया है।”

प्रवक्ता ने यह भी बताया कि चक्रवात के कारण प्रभावित क्षेत्रों में भारी बारिश और तेज हवाओं की संभावना है। उन्होंने लोगों को सतर्क रहने और आवश्यक सावधानियाँ बरतने की सलाह दी है। प्रशासन ने बचाव और राहत कार्यों के लिए पूरी तैयारी कर ली है और तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का कार्य जारी है।

इस समय, स्थानीय प्रशासन, आपदा प्रबंधन टीमें और अन्य संबंधित एजेंसियाँ स्थिति पर कड़ी नजर रख रही हैं। लोगों से अपील की जा रही है कि वे अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकलें और सरकारी निर्देशों का पालन करें। चक्रवात के प्रभाव को कम करने और जनहानि से बचने के लिए हर संभव उपाय किए जा रहे हैं।


22:58 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल ने बांग्लादेश के तट पर दी दस्तक

भीषण चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ ने रविवार रात बांग्लादेश के तट पर दस्तक दी। तूफान के प्रकोप को देखते हुए अधिकारियों ने देश के निचले दक्षिण-पश्चिमी तटीय इलाकों से आठ लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

चक्रवात रेमल के कारण इन क्षेत्रों में भारी बारिश और तेज हवाओं की संभावना है, जिससे जनजीवन प्रभावित हो सकता है। प्रशासन ने सभी आवश्यक एहतियाती कदम उठाते हुए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने का कार्य तत्परता से पूरा किया। राहत और बचाव कार्यों के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) और स्थानीय बचाव दलों को तैनात कर दिया गया है।

web Service
web Service

प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल सुविधाएं, खाद्य सामग्री और अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। अधिकारियों ने लोगों को सलाह दी है कि वे सुरक्षित स्थानों पर रहें और किसी भी आपात स्थिति में तुरंत राहत कार्यकर्ताओं से संपर्क करें।

बांग्लादेश सरकार और स्थानीय प्रशासन चक्रवात रेमल के प्रभाव को कम करने और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से जुटे हुए हैं। जनहानि को न्यूनतम रखने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है, जिससे प्रभावित लोगों को जल्द से जल्द राहत मिल सके।


22:58 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल ने बांग्लादेश के तक

भीषण चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ ने रविवार रात बांग्लादेश के तट पर अपनी दस्तक दी। इस खतरे को देखते हुए, अधिकारियों ने देश के निचले दक्षिण-पश्चिमी तटीय इलाकों से आठ लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया।

तूफान के कारण इन क्षेत्रों में भारी बारिश और तीव्र हवाओं की संभावना है, जिससे व्यापक क्षति हो सकती है। प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाने का कार्य युद्धस्तर पर पूरा किया। राहत और बचाव कार्यों के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और स्थानीय बचाव दलों को तैनात किया गया है।

प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाएं, खाद्य सामग्री और अन्य आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। अधिकारियों ने लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षित स्थानों पर बने रहने की सलाह दी है। किसी भी आपात स्थिति में तुरंत राहत कार्यकर्ताओं से संपर्क करने के निर्देश दिए गए हैं।

बांग्लादेश सरकार और स्थानीय प्रशासन चक्रवात ‘रेमल’ के प्रभाव को कम करने और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद हैं। जनहानि को न्यूनतम रखने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है, ताकि प्रभावित लोगों को त्वरित और प्रभावी राहत मिल सके।


22:56 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: ‘आत्मविश्वास के साथ करेंगे इस तूफान का सामना’, चक्रवात रेमल को लेकर बोले राज्यपाल सीवी बोस

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने एक समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि बंगाल आत्मविश्वास और साहस के साथ इस संकट का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने कहा, “यह पहली बार नहीं है कि बंगाल इस तरह के संकट का सामना कर रहा है। हम निश्चित रूप से आत्मविश्वास, प्रभावी ढंग से और सक्रियता के साथ इस तूफान का सामना करेंगे।”

राज्यपाल ने यह भी बताया कि स्थिति से निपटने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। यह टास्क फोर्स राहत और बचाव कार्यों के समन्वय के लिए जिम्मेदार होगी, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि हर संभव सहायता तत्काल उपलब्ध हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे तटीय क्षेत्रों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और आवश्यक संसाधनों की आपूर्ति करने में कोई कसर न छोड़ें।

राज्यपाल ने जनता से भी अपील की कि वे शांत रहें और प्रशासन द्वारा दिए जा रहे निर्देशों का पालन करें। संकट की इस घड़ी में सभी संबंधित एजेंसियां और नागरिक सुरक्षा बल पूरी तत्परता के साथ काम कर रहे हैं ताकि लोगों की जान-माल की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। इस प्रकार, पश्चिम बंगाल राज्य सरकार और प्रशासनिक इकाइयाँ चक्रवाती तूफान का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।


22:53 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल को लेकर सीएम ममता बनर्जी ने जनता से की ये अपील

चक्रवात रेमल को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे घरों के अंदर ही रहें। उन्होंने कहा, “कृपया सभी लोग सुरक्षित रहें और घरों के अंदर ही रहें।”

मुख्यमंत्री ने जनता से यह अनुरोध किया कि वे प्रशासन के निर्देशों का पालन करें और अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें। उन्होंने कहा कि चक्रवात के संभावित प्रभावों को देखते हुए यह कदम आवश्यक है ताकि जनहानि और संपत्ति के नुकसान को कम किया जा सके। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन ने सभी आवश्यक तैयारियाँ कर ली हैं और राहत एवं बचाव कार्यों के लिए विशेष टीमें तैनात की गई हैं।

प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाने का कार्य भी जारी है और सभी आवश्यक संसाधनों की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। मुख्यमंत्री ने सभी से संयम बनाए रखने और अफवाहों से बचने की अपील की।

web Service
web Service

उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि सरकार इस संकट की घड़ी में हर संभव सहायता प्रदान करेगी और स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है। इस प्रकार, राज्य प्रशासन चक्रवात रेमल से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव कदम उठा रहा है।


22:09 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: पश्चिम बंगाल के 9 जिलों में एनडीआरएफ की 14 टीमें की गईं तैनात

एनडीआरएफ ने बताया कि भीषण चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ के आज आधी रात को टकराने की आशंका के मद्देनजर, एनडीआरएफ की कुल 14 टीमों को पश्चिम बंगाल के 9 जिलों के संवेदनशील इलाकों में तैनात किया गया है। इनमें हुगली में 1, हावड़ा में 1, दक्षिण 24 परगना में 3, उत्तर 24 परगना में 2, पूर्व मेदिनीपुर में 2, पश्चिम मेदिनीपुर में 2, कोलकाता में 1, मुर्शिदाबाद में 1 और नादिया में 1 टीम शामिल है।

इसके अलावा, जरूरत के मुताबिक अल्प सूचना पर आगे बढ़ने के लिए अतिरिक्त टीमें निर्धारित की गई हैं। इन टीमों का मुख्य कार्य संकट की स्थिति को नियंत्रित करना और आपातकालीन स्थितियों में लोगों की सहायता करना है। एनडीआरएफ के द्वारा यह स्थिति का प्रबंधन सख्ती से किया जा रहा है ताकि सामुदायिक सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।


22:05 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवात रेमल को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- युद्ध स्तर पर हो रहा काम

गृह मंत्री अमित शाह ने बताया कि चक्रवात रेमल के भूस्खलन के मद्देनजर संबंधित अधिकारियों से बात की गई है। उन्होंने कहा कि उन सभी इलाकों में जहां चक्रवात का असर हो सकता है, एनडीआरएफ की पर्याप्त तैनाती की गई है।

इस तरह की परिस्थितियों में, लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में पहुंचाया जा रहा है और आपदा प्रतिक्रिया एजेंसियां यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही हैं कि जान-माल की सुरक्षा हो। मोदी सरकार इस बारहमासी योजना के अंतर्गत आपदाओं में न्यूनतम जनहानि के लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

गृह मंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि सरकार और संबंधित एजेंसियां चक्रवाती तूफान के प्रभावों का नियंत्रण करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही हैं और लोगों की सुरक्षा में जुटी हैं। इस समय में सभी को सतर्क रहने और प्राधिकृतिक निर्देशों का पालन करने की अपील की गई है।


20:45 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बंगाल के तटीय इलाकों से 1 लाख से ज्यादा लोग हटाए गए

पश्चिम बंगाल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने सुंदरबन और सागर द्वीप सहित तटीय क्षेत्रों से लगभग 1.10 लाख लोगों को सुरक्षित आश्रयों के लिए निकाला है। इस संक्रमण की घटना के चलते, सरकारी अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई की है और लोगों को आपदा से बचाव के लिए सुरक्षित स्थानों में पहुंचाया जा रहा है।

इस कार्रवाई के तहत, सुंदरबन और सागर द्वीप क्षेत्रों की जनता को सुरक्षित आश्रयों में अंतरण किया जा रहा है ताकि वे चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ से सुरक्षित रह सकें। यह भारी बारिश और तूफान के प्रकोप के समय में जनता की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण कदम है।

Cyclone Remal Live
Cyclone Remal Live

सरकार ने इस कार्रवाई को अच्छी तरह से प्रबंधित किया है और लोगों को सुरक्षित स्थानों में पहुंचाने के लिए सभी संभावित प्रयास किए जा रहे हैं। इस बड़ी आपातकालीन स्थिति में, सरकार और जनता के सहयोग से ही सुरक्षा को बनाए रखना महत्वपूर्ण है।


20:44 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: कोलकाता में 15 हजार कर्मियों को किया गया तैनात

कोलकाता में लगभग 15,000 नागरिक कर्मचारियों को चक्रवात के बाद के परिदृश्यों से निपटने के लिए तैनात किया गया है। कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम ने यह जानकारी दी और कहा, “हम आशंकित हैं क्योंकि इस तूफान के कोलकाता पर असर पड़ने की आशंका है। मौसम कार्यालय से ताजा जानकारी के अनुसार, तूफान के कारण 60 से 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान है।”

इसके अलावा, वे नागरिकों को सुरक्षित रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रहे हैं और अपील कर रहे हैं कि लोग अपने घरों में ही रहें और अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें। इस अपील का मकसद यह है कि चक्रवाती तूफान के प्रकोप में कोई नुकसान न हो और लोग सुरक्षित रहें।


20:37 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: अगले 2-3 घंटों में लैंडफाल करेगा रेमल, बंगाल के इन इलाकों में दिखाई देगा असर

चक्रवात रेमल अगले दो से तीन घंटों में पश्चिम बंगाल के अंदर लैंडफाल करने वाला है। इसके अलावा, उत्तर, दक्षिण 24 परगना, कोलकाता, हावड़ा, हुगी, पूर्वी मिदनापुर, नादिया और मुर्शिदाबाद जिलों में बहुत तेज हवा के साथ बहुत भारी-अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है। 26-27 मई, 2024 के दौरान पूर्वी बर्दवान, पश्चिम मिदनापुर, बीरभूम में तेज हवा के साथ भारी-बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

इस अवधि में, लोगों को तेज हवाओं, भारी वर्षा, और बाढ़ के खतरों से बचने के लिए सतर्क रहने की सलाह दी जाती है। सरकारी अधिकारियों ने भी सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं और लोगों को चेतावनी दी है कि वे आपदा से बचाव के लिए आवश्यक तैयारियों को करें। जनता से अनुरोध है कि वे मौसम संबंधित सूचनाओं का पालन करें और आपदा के समय सुरक्षित स्थानों में रहें।


20:33 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: ट्रेनों को जंजीरों और तालों से जकड़ा गया

चक्रवात रेमल को देखते हुए एहतियात के तौर पर तेज हवाओं की वजह से ट्रेनों को फिसलने से बचाने के लिए शालीमार रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों को जंजीरों और तालों की मदद से रेलवे ट्रैक से बांध दिया गया है।

इस उपाय का उद्देश्य है कि चक्रवाती तूफान के समय ट्रेनों को सुरक्षित रखा जा सके और यात्रियों की सुरक्षा हो सके। रेलवे अधिकारियों ने तेज हवाओं और उच्च जलस्तर के खतरों को देखते हुए इस निर्णय को लिया है। ट्रेनों को जंजीरों और तालों से बांधने से ट्रेनों की स्थिति कंट्रोल में रहती है और ट्रैक से फिसलने की संभावना को कम कर देता है।

इसके अलावा, यात्रियों से भी अपील की गई है कि वे यात्रा के समय सतर्क रहें और सुरक्षित स्थानों पर ही रहें। ऐसे समय में सुरक्षा का प्रथमत: ध्यान रखना आवश्यक होता है।


19:48 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बंगाल के तटीय इलाकों से 1 लाख से ज्यादा लोगों को निकाला गया

चक्रवात रेमल को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार ने तटीय क्षेत्रों से लगभग 1.10 लाख लोगों को हटा लिया है। प्रभावित क्षेत्रों में सुंदरबन और सागर द्वीप शामिल हैं, जहां के निवासियों को सुरक्षित आश्रयों में पहुंचा दिया गया है। अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “निकासी प्रयासों ने तटीय क्षेत्रों से 1.10 लाख लोगों को सुरक्षित आश्रयों में स्थानांतरित करने पर ध्यान केंद्रित किया है, जिनमें से एक बड़ी संख्या दक्षिण 24 परगना जिले, विशेष रूप से सागर द्वीप, सुंदरबन और काकद्वीप से है।”

इस कदम से लोगों की सुरक्षा और संरक्षण को प्राथमिकता दी गई है, जिससे वे चक्रवाती तूफान के असर से सुरक्षित रह सकें। तटीय क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों को समय पर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में मदद मिली है, जिससे उनकी जिंदगी और संपत्ति की सुरक्षा हो सके।


19:43 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: आधी रात को बंगाल की सीमा पर टकराएगा चक्रवात रेमल, पीएम मोदी ने की मीटिंग

चक्रवात रेमल आधी रात के करीब बंगाल और बांग्लादेश की सीमा से टकरा रहा है। इसको ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रविवार (26 मई) को एक मीटिंग की और तैयारियों का जायदा भी लिया। उन्होंने सुरक्षा और बचाव की व्यवस्था को मजबूत करने के लिए सरकारी एजेंसियों से सहयोग की अपील की।

प्रधानमंत्री ने संभावित तटीय क्षेत्रों में तैनात एनडीआरएफ और अन्य राहत टीमों की तैयारियों की जांच की। वे तैयारियों की स्थिति की निगरानी करने और चक्रवाती तूफान के किसी भी असामान्य घटना का सम्भावित सामना करने के लिए स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से संपर्क में रहेंगे।

मोदी जी ने इस मौके पर लोगों से भी अत्यधिक सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने सरकारी एजेंसियों को लोगों की सुरक्षा और तत्काल राहत की सहायता करने के लिए संपूर्ण तैयारियों की मांग की है।


19:16 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: ओडिशा के 4 जिलों में भारी बारिश, अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने चक्रवात रेमल के तट के करीब पहुंचने के मद्देनजर ओडिशा के चार जिलों के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके प्रभाव से भद्रक, बालासोर, केंद्रपाड़ा और मयूरभंज जिलों में 7 से 11 सेमी तक भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है।

आईएमडी ने कहा कि लगभग 20,000 मछली पकड़ने वाली नौकाओं को सुरक्षित रूप से ठिकाने लगा दिया गया है और चार जिलों के कलेक्टरों को स्थिति उत्पन्न होने पर ओडिशा आपदा रैपिड एक्शन फोर्स (ओडीआरएएफ) और अग्निशमन सेवाओं का उपयोग करने का निर्देश दिया गया है।


18:24 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: कोलकाता हवाईअड्डे ने अगले 21 घंटों के लिए 394 अंतरराष्ट्रीय, घरेलू उड़ानें निलंबित कीं

पश्चिम बंगाल में गंभीर चक्रवात रेमल के मद्देनजर कोलकाता हवाई अड्डे से रविवार दोपहर से अगले 21 घंटों तक अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों तरह की कुल 394 उड़ानें संचालित नहीं होंगी. भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण (एएआई) के एक अधिकारी ने कहा, “उड़ान निलंबन के दौरान, कुल 394 उड़ानें – अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों अगले 21 घंटों तक संचालित नहीं होंगी.”

——————————————————————————————————————————————————————————–
18:11 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: त्रिपुरा में आज रात से 29 मई तक होगी भारी बारिश

चक्रवात रेमल पर भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की ओर से जारी नोटिस के बाद, त्रिपुरा सरकार के सचिव, आपदा प्रबंधन ब्रिजेश पांडे ने त्रिपुरा के लिए मौसम संबंधी चेतावनी जारी की। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में 26 मई की रात से 29 मई की रात तक भारी बारिश और तेज हवाएं चलने की संभावना है।


17:22 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: पश्चिम बंगाल के कई गावों में एनडीआरफ की टीमें तैनात

चक्रवात रेमल से पहले हसनाबाद गांव में एनडीआरएफ की टीम तैनात हो गई है। आईएमडी के मुताबिक, चक्रवात रेमल आज आधी रात को बांग्लादेश और आसपास के पश्चिम बंगाल तटों के बीच टकराएगा।
——————————————————————————————————————————————————————————–
16:55 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: इंडिगो ने कुछ उड़ानें कैंसिल कीं

चक्रवात रेमल की वजह से इंडिगो ने कुछ उड़ानों को पुनर्निर्धारित और रद्द कर दिया है। यात्रियों को सभी बदलावों के बारे में पहले से सूचित किया गया है और उन्हें सोशल प्लेटफॉर्म पर वास्तविक समय पर अपडेट प्रदान किया जा रहा है। चक्रवात के कारण यात्रियों को होने वाली असुविधा से बचने के लिए शमन उपाय किए गए हैं।
——————————————————————————————————————————————————————————–
16:35 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बांग्लादेश की ओर बढ़ा रेमल, हजारों लोग जगह छोड़कर भागे

अधिकारियों ने कहा कि हजारों बांग्लादेशी रविवार को अपने तटीय गांवों को छोड़कर अंदर की ओर आश्रयों के लिए चले गए। लोगों को पहले से पता है कि रेमल तूफान का असर होने वाला है। बांग्लादेश के मौसम विभाग ने 130 किलोमीटर (81 मील) प्रति घंटे की रफ्तार के साथ लहरें उठने और तेज आंधी चलने की भविष्यवाणी की है।


15:41 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: 13 किमी/घंटा की रफ्तार से उत्तरी खाड़ी की ओर बढ़ रहा है रेमल

आईएमडी वैज्ञानिक सोमनाथ दत्ता ने कहा, “पिछले 6 घंटों में, चक्रवात ‘रेमल’ 13 किमी/घंटा की गति से उत्तरी खाड़ी की ओर बढ़ रहा है। यह खेपुपारा, बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिम में है। वर्तमान में, हवा की गति 95-105 किमी/घंटा है। यह उत्तर दिशा में आगे बढ़ेगा। आधी रात को यह सागर द्वीप और खेपुपारा के बीच के क्षेत्र को पार करेगा। अधिकतम हवा की गति 110-120 किमी/घंटा होगी, जो बढ़कर 135 किमी/घंटा तक पहुंच जाएगी।”
——————————————————————————————————————————————————————————–
14:42 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: आज रात टकराएगा चक्रवाती तूफान

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान रेमल आज आधी रात को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों से टकराने वाला है। इस वजह से निचले इलाकों को खाली करवा दिया गया है।
——————————————————————————————————————————————————————————–
14:42 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: आज रात टकराएगा चक्रवाती तूफान

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान रेमल आज आधी रात को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों से टकराने वाला है। इस वजह से निचले इलाकों को खाली करवा दिया गया है।
——————————————————————————————————————————————————————————–
14:21 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live : ओडिशा में तटों पर लौटे मछुआरे, 20 हजार नाव किनारे पर खड़ी

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त सत्यब्रत साहू ने बताया कि पिछले 4-5 दिनों से हम बंगाल की खाड़ी के ग्रीष्मकालीन चक्रवात रेमल की निगरानी कर रहे हैं। हमारे पास आईएमडी से जो जानकारी है वह यह है कि यह आज आधी रात तक टकराएगा। उन्होंने बताया कि बारिश पहले ही हो चुकी है। ओडिशा के तटीय जिलों में सुबह से ही बारिश शुरू हो गई है और यह और तेज हो जाएगी। करीब 20,000 मछुआरों की नावें किनारे पर आ गई हैं। ओडिशा में डरने की कोई बात नहीं है, बारिश तो होगी, लेकिन हम इसे कम करने की कोशिश करेंगे। कलेक्टर्स का कहना है कि वे नुकसान को लेकर तैयार हैं।
——————————————————————————————————————————————————————————–
13:56 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: चक्रवाती तूफान के चलते ट्रेनें कैंसिल

चक्रवात रेमल की तैयारियों पर, पूर्वी रेलवे के सीपीआरओ, कौशिक मित्रा ने कहा, “हमने पर्याप्त एहतियाती कदम उठाए हैं और मौसम विज्ञान अधिकारियों के संपर्क में हैं। हमने तुरंत प्रतिक्रिया देने के लिए विभिन्न स्थानों पर अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए कैंप स्थापित किए हैं। पंपिंग स्टेशन चालू हैं, अतिरिक्त वाहन तैयार हैं और एहतियात के तौर पर होर्डिंग हटा दिए गए हैं। इसके अलावा, कुछ ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं।”

उन्होंने और भी बताया, “हमारी प्राथमिकता है सुरक्षितता और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है। जल्दी से ट्रेनों को बंद करने का निर्णय लिया गया है, ताकि लोगों को किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े। हमने सार्वजनिक संचार माध्यमों के माध्यम से इस बारिश से प्रभावित इलाकों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की अपील की है।”

मित्रा ने इसके साथ ही आगे भी बताया, “हम अब भी मौसम की निगरानी कर रहे हैं और लोगों को समय समय पर अपडेट कर रहे हैं। लोगों से अनुरोध है कि वे बारिश के दौरान सावधानी बरतें और अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें।”


13:34 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बांग्लादेश में तटीय इलाकों से बाहर निकाले गए हजारों लोग

चक्रवाती तूफान को लेकर भारत में जिस तरह से तैयारियां चल रही हैं, वैसी ही तैयारियां बांग्लादेश में भी हुई हैं। बांग्लादेश ने रविवार को तटीय गांवों से दसियों हजार लोगों को बाहर निकाला है। इन्हें तटों से दूर बनाए गए शेल्टर्स में शरण दी गई है। रेमल तूफान रविवार आधी रात तट से टकराने वाला है। तैयारियों के बारे में बांग्लादेश के अधिकारियों ने बताया कि वे प्राथमिकता देने के लिए सभी संभावित उपाय कर रहे हैं।

बांग्लादेश के मौसम विभाग ने तूफान की चेतावनी जारी की है और लोगों से अलर्ट रहने का निर्देश दिया है। तटीय क्षेत्रों में उच्च जलस्तर के बाद तट से लोगों को हटाया गया है। सरकारी अधिकारियों ने भी उपयुक्त एहतियाती उपायों की प्राथमिकता दी है। तैयारी के लिए बांग्लादेश सरकार ने अपात निरीक्षण टीमें और उपयुक्त साधनों को तैनात किया है।

विशेषज्ञों का मानना है कि रेमल तूफान के आने से उच्च तेज वायुमंडल एवं तेज हवाओं की भी अपेक्षा है। लोगों से अलर्ट रहने और सरकारी निर्देशों का पालन करने की अपील की गई है। इसके अलावा, स्थानीय प्राधिकरणों ने भी आपदा के लिए तैयारियां बढ़ाई हैं और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम किया जा रहा है।


13:18 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: स्पाइसजेट ने कैंसिल की फ्लाइट्स, यात्रियों को दिया रिफंड का ऑप्शन

स्पाइसजेट ने कोलकाता के लिए और यहां से जाने वाली अपनी सभी फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया है। एयरलाइंस ने कहा है कि वह कैंसिलेशन की वजह से असुविधा उठाने वाले यात्रियों को रिफंड भी देगी। एक बयान में एयरलाइंस ने कहा, “चक्रवाती तूफान रेमाल की वजह से कोलकाता एयरपोर्ट से ऑपरेशन सस्पेंड है। कोलकाता एयरपोर्ट से रविवार दोपहर 12 बजे से लेकर सोमवार सुबह 9 बजे तक सभी फ्लाइट्स ऑपरेशन कैंसिल हैं। यात्रियों को बताया जाता है कि वे हमारे कस्टर केयर सेंटर या वेबसाइट से संपर्क करें, अगर उन्हें दूसरी फ्लाइट के लिए या रिफंड की सुविधा चाहिए।”
——————————————————————————————————————————————————————————–
12:55 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: फ्लाइट ऑपरेशन रुके रहने की वजह यात्री निराश

चक्रवात ‘रेमल’ की वजह से कोलकाता एयरपोर्ट पर फ्लाइट ऑपरेशन 21 घंटे तक रुका रहने वाला है, जिससे कई यात्रियों को असुविधा हो रही है। कई यात्रियों ने फ्लाइट कैंसिल होने के संबंध में एयरलाइंस की तरफ से बरते गए कम्युनिकेशन के तरीके पर निराशा व्यक्त की। उन्होंने बताया कि उन्हें ईमेल या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर्स पर कोई मैसेज नहीं भेजा गगया। कुछ यात्रियों का कहना है कि उन्हें एयरलाइंस की तरफ से होटल में ठहरने और खाने की व्यवस्था मिलनी चाहिए।
——————————————————————————————————————————————————————————–
12:20 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live : रेमल का क्या है मतलब?

चक्रवाती तूफान रेमल को उसका नाम ओमान ने दिया है। रेमल का अर्थ अरबी में रेत होता है। ये तूफान आज रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तट से टकराने वाला है।
——————————————————————————————————————————————————————————–
12:00 PM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: सुंदरबन में बनाए गए कंट्रोल रूम

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना के सुंदरबन में चक्रवाती तूफान रेमल को ध्यान में रखते हुए कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं। यहां से तूफान पर नजर रखी जा रही है। रेमल तूफान रविवार आधी रात को टकराने वाला है।

11:46 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: एनडीआरएफ की टीमें की गईं तैनात

ब्लॉक आपदा प्रबंधन अधिकारी प्रदीप कुमार ने कहा कि हम चक्रवात ‘रेमल’ के लिए तैयार हैं। हम 14 ग्राम पंचायत आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष के साथ भी समन्वय कर रहे हैं और किसी भी स्थिति के लिए तैयार हैं। एनडीआरएफ की एक टीम पहले से ही गोसाबा क्षेत्र में तैनात है। कई और स्कूल बिल्डिंग और 10 फ्लैट सेंटर बचाव केंद्र के लिए तैयार किया गया है।
——————————————————————————————————————————————————————————-
11:33 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: कुछ घंटों में गंभीर रूप लेगा रेमल

मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवाती तूफान रेमल अगले कुछ घंटों में एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा। वह 26 मई यानी आज रात बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल के तटों से टकराने वाला है।

11:14 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: कितनी तेज चलने वाली हैं हवाएं?

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने बताया है कि चक्रवाती तूफान रेमल की वजह से उसके केंद्र के आस-पास 90-100 किमी प्रतिघंटा से लेकर 110 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार तक हवाएं चल रही हैं। तूफान के लगभग उत्तर की ओर बढ़ने और तेज होने और आज, 26 मई 2024 की आधी रात तक एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में मोंगला (बांग्लादेश) के दक्षिण-पश्चिम के करीब सागर द्वीप और खेपुपारा के बीच बांग्लादेश और आसपास के पश्चिम बंगाल तटों को पार करने की बहुत संभावना है। 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा 135 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।


11:00 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live : किरेन रिजिजू ने बतायी तूफान की लोकेशन?

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने बताया है कि चक्रवाती तूफान रेमल उत्तरी बंगाल की खाड़ी में है और 7 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से बढ़ रहा है। सुबह 8.30 बजे वह एक ही जगह था। अभी तूफान खेपापुरा (बांग्लादेश) से 260 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम, मोंगला (बांग्लादेश) से 310 किमी दक्षिण, सागर द्वीप (पश्चिम बंगाल) से 240 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और कैनिंग (पश्चिम बंगाल) से 280 किमी दक्षिण-दक्षिण पूर्व में है।


10:45 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: लोगों को किया जा रहा सचेत

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए सिविल डिफेंस कर्मी सैयद अली खान ने कहा कि हम लोगों को सचेत कर रहे हैं। मौसम कल से ज्यादा खराब हो गया है। एनडीआरएफ की टीमें बंगाल में तैनात हैं।


10:30 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: बंगाल में बदलने लगा मौसम

पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले के मंदारमणि और दीघा इलाके में मौसम बदल रहा है। आईएमडी के अनुसार, चक्रवात ‘रेमल’ अगले कुछ घंटों में एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा और 26 मई की आधी रात के आसपास बांग्लादेश और आसपास के पश्चिम बंगाल तटों के बीच एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में टकराने वाला है।


10:17 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: कोलकाता एयरपोर्ट से फ्लाइट्स सस्पेंड होने से यात्री परेशान

चक्रवाती तूफान रेमल की वजह से कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट को रविवार दोपहर से सोमवार सुबह तक के लिए बंद कर दिया गया है। यहां से फ्लाइट्स की उड़ान को सस्पेंड किया गया है, जिससे यात्री काफी परेशान हो रहे हैं। अर्नब नाम के एक यात्री ने कहा, “मेरी दादी आज यहां आईं लेकिन उन्हें बताया गया कि उनकी फ्लाइट ओवरबुक हो गई है और उन्हें कल फिर आना होगा क्योंकि चक्रवात के कारण बाकी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। यहां कई उड़ानें रद्द हो रही हैं। रद्द करने का मुख्य कारण चक्रवात और खराब मौसम है।”

——————————————————————————————————————————————————————————–

09:51 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live : तूफान से सड़कों, फसलों को हो सकता है नुकसान

आईएमडी ने पश्चिम बंगाल के दक्षिण और उत्तर 24 परगना जिलों में स्थानीय बाढ़ और कमजोर संरचनाओं, बिजली और संचार लाइनों, कच्ची सड़कों, फसलों और बगीचों को महत्वपूर्ण नुकसान की चेतावनी दी है। प्रभावित इलाकों में लोगों को घर के अंदर ही रहने की सलाह दी गई है।


09:34 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: ओडिशा के इन इलाकों में होगी बारिश

मौसम विभाग ने बताया है कि ओडिशा में बालासोर, भद्रक और केंद्रपाड़ा जैसे तटीय जिलों में 26-27 मई को भारी बारिश होने की आशंका है, जबकि 27 मई को मयूरभंज में भारी वर्षा होने के आसार हैं।


09:11 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: आईएमडी ने बंगाल के इन इलाकों के लिए जारी किया रेड और ऑरेंज अलर्ट

आईएमडी की तरफ से पश्चिम बंगाल के दक्षिण और उत्तर 24 परगना जैसे तटीय जिलों में 26-27 मई के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है, जहां कुछ क्षेत्रों में अत्यधिक भारी बारिश होने की आशंका है। इसके अलावा कोलकाता, हावड़ा, नादिया और पूर्बा मेदिनीपुर जिलों में 26-27 मई के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है, जहां 80 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की आशंका है।


08:59 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह

मौसम विभाग की तरफ से कहा गया है कि मछुआरे अपनी नावों को लेकर समुद्र में ना जाएं। चक्रवाती तूफान की वजह से उनकी जान को खतरा हो सकता है। मछुआरों को रविवार से लेकर सोमवार (27 मई) सुबह तक उत्तरी बंगाल की खाड़ी में समुद्र में न जाने की सलाह मिली है।


08:40 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live : 135 किमी प्रतिघंटा से चलेंगी हवाएं

आईएमडी ने बताया है कि तूफान के रविवार सुबह से और तीव्र होकर भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। इसके 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा की गति के साथ रविवार मध्यरात्रि को सागर द्वीप और खेपुपारा के बीच पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के आसपास के समुद्री तटों को पार करने की उम्मीद है। इस दौरान 135 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से भी हवा चल सकती है।
——————————————————————————————————————————————————————————
08:28 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Updates: एनडीआरएफ की टीमें तैनात

चक्रवाती तूफान रेमल को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमों को बंगाल के तटीय इलाकों में तैनात कर दिया गया है। एनडीआरएफ इंस्पेक्टर जहीर अब्बास ने कहा है कि उनकी टीम हर तरह की आपदा से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने कहा कि हम चक्रवात के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। अगर चक्रवात यहां आता है तो हमारे जवान हर तरह की आपदा से निपटने के लिए तैयार हैं। हमारी टीम सुसज्जित है। टीम पेड़ गिरने या बाढ़ से बचाव आदि के लिए तैयार है। हम हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।
——————————————————————————————————————————————————————————–
08:18 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal Live: तूफान के चलते कोलकाता एयरपोर्ट बंद

कोलकाता एयरपोर्ट को चक्रवाती तूफान रेमल को देखते हुए रविवार (26 मई) को बंद कर दिया गया है। एयरपोर्ट पर रविवार दोपहर से 21 घंटे के लिए फ्लाइट सस्पेंड करने का फैसला किया गया है। फ्लाइट सस्पेंशन के दौरान अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों क्षेत्रों में आगमन और प्रस्थान वाली कुल 394 फ्लाइट्स एयरपोर्ट से आने-जाने के लिए संचालित नहीं होंगी।
——————————————————————————————————————————————————————————-
08:18 AM (IST)  •  26 May 2024

Cyclone Remal: आज टकराने वाला है चक्रवाती तूफान रेमल

भारतीय मौसम विभाग ने बताया है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बनी निम्न दबाव प्रणाली चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ में तब्दील हो गयी है और इसके रविवार आधी रात को पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप तथा बांग्लादेश के खेपुपारा के बीच समुद्र तट से टकराने की आशंका है। इस मानसून पूर्व सीजन में बंगाल की खाड़ी में यह पहला चक्रवाती तूफान है।


 

इससे भी पढ़े :- एमएस धोनी का आखिरी IPL मैच… भावुक विदाई, चेन्नई की हार से माही का क्रिकेट सफर समाप्त?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *