Bank Cyber Attack: आपके बैंक खाते को खतरा! रिज़र्व बैंक को साइबर हमले का खतरा |

Bank Cyber Attack

Bank Cyber Attack: रिज़र्व बैंक के सूत्रों से मिली जानकारी: साइबर हमले की आशंका, भारतीय बैंक खातों पर हो सकता है निशाना

Bank Cyber Attack: देश भर के करोड़ों बैंक खाताधारकों के लिए एक बुरी खबर है। भारतीयों के बैंक खातों पर साइबर अटैक का खतरा बढ़ रहा है और इसे लेकर आरबीआई ने अलर्ट जारी किया है। सेंट्रल बैंक ने साइबर अटैक के खतरे को देखते हुए सभी बैंकों से तैयार रहने का आदेश दिया है।

Bank Cyber Attack
Bank Cyber Attack: आपके बैंक खाते को खतरा! रिज़र्व बैंक को साइबर हमले का खतरा |

Bank Cyber Attack: इस अलर्ट के माध्यम से सभी बैंकों को यह सलाह दी गई है कि वे अपनी साइबर सुरक्षा को मजबूत करें और अपने ग्राहकों के धन को सुरक्षित रखने के लिए सख्ती से काम करें। आरबीआई ने इस मामले में जानकारी संकलित कर बैंकों को अवगत कराया है कि साइबर हमले के खतरे से बचने के लिए क्या कदम उठाने चाहिए।

हैकरों के इस समूह से खतरा

Bank Cyber Attack: रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को सक्रियता के साथ चौबीस घंटे खतरे को नियंत्रित करने के लिए तैयार रहने का आदेश दिया है। बैंक ने इस निर्देश को साइबर अटैक के खतरे के सूत्रों से जानकारी प्राप्त करने के बाद जारी किया है। सेंट्रल बैंक ने 24 जून को सभी बैंकों और वित्तीय संस्थानों को एक चेतावनी दी है। इस एडवाइजरी में बैंकों को सलाह दी गई है कि वे खतरे की पहचान करने के लिए सुरक्षा जाँच और सर्विलेंस की क्षमता को मजबूत करें, साथ ही बचाव के उपायों को तेज करें। रिजर्व बैंक का कहना है कि बैंकों को साइबर हमलों से बचने के लिए सजग रहना और तत्परता से काम करना होगा।

बैंकों को चौबीसों घंटे तैयार रहने का निर्देश

Bank Cyber Attack: रिजर्व बैंक ने इस अलर्ट और एडवाइजरी को उस समय जारी किया है, जब हाल ही में एक सोशल मीडिया पोस्ट में भारतीय बैंक खाताधारकों को लेकर खतरे की चेतावनी दी गई थी। रिजर्व बैंक ने 24 जून को एडवाइजरी जारी की और उसी दिन एक सोशल मीडिया पोस्ट में दावा किया गया कि LulzSec नामक हैकर ग्रुप भारतीय बैंकों को निशाना बनाने की धमकी दे रहा है। LulzSec ने पहले भी कई उच्च प्रोफाइल साइबर अटैक किए हैं। पहले माना जाता था कि इस समूह की गतिविधियाँ समाप्त हो चुकी हैं, लेकिन हाल ही में उसकी फिर से सक्रियता की जानकारी मिली है।

Bank Cyber Attack: रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को अपनी साइबर सुरक्षा को मजबूत करने और इस तरह के खतरे के खिलाफ सतर्क रहने की सलाह दी है। यह चेतावनी सभी वित्तीय संस्थानों के लिए महत्वपूर्ण है, जिन्हें अपने ग्राहकों के धन की सुरक्षा में और भी व्यापक उपाय अपनाने की जरूरत है।

हर साल होता है इतना नुकसान

Bank Cyber Attack: डिजिटल अर्थव्यवस्था में साइबर अटैक के खतरे लगातार बढ़ रहे हैं। रिजर्व बैंक द्वारा इस सप्ताह जारी फाइनेंशियल स्टेबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 20 सालों में फाइनेंशियल सेक्टर ने 20 हजार से अधिक साइबर अटैक की रिपोर्ट दी हैं, जिनमें कुल नुकसान 20 बिलियन डॉलर से अधिक हुआ है। इसका मतलब है कि औसतन हर साल 1000 साइबर अटैक के मामले सामने आ रहे हैं और उनके कारण औसतन हर साल 1 बिलियन डॉलर का नुकसान हो रहा है।

यह रिपोर्ट बताती है कि फिनैंसियल सेक्टर में साइबर हमलों की तेजी से बढ़ती जा रही है, जिससे वित्तीय संस्थानों को अपनी सुरक्षा को मजबूत करने की जरूरत है। रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को सुरक्षा के मामले में अत्यधिक सतर्क रहने का सुझाव दिया है ताकि वे अपने ग्राहकों के धन को सुरक्षित रख सकें।

Bank Cyber Attack
Bank Cyber Attack: आपके बैंक खाते को खतरा! रिज़र्व बैंक को साइबर हमले का खतरा |

पहले भी जारी हो चुका है अलर्ट

Bank Cyber Attack: सीईआरटी-इन ने पिछले साल भी इसी तरह के खतरे की चेतावनी दी थी। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय फंड ट्रांसफर के स्विफ्ट सिस्टम, कार्ड नेटवर्क, रियल टाइम पेमेंट सिस्टम यूपीआई और आरटीजीएस, एनईएफटी जैसे लोकल फंड ट्रांसफर नेटवर्क पर सुरक्षा की आशंका जताई थी। अब रिजर्व बैंक द्वारा जारी इस अलर्ट के बाद, बैंकों को इन खतरों को पहचानने और उनसे बचाव के प्रयासों को तेज करने की जरूरत है।

Bank Cyber Attack: बैंकों को साइबर हमलों से बचने के लिए अपनी सुरक्षा प्रणालियों को मजबूत करने के साथ-साथ नवीनतम तकनीकी उपायों का भी इस्तेमाल करना होगा। इसके अलावा, सुरक्षा जाँच और सर्विलेंस को भी बढ़ावा देना होगा ताकि किसी भी प्रकार के साइबर अटैक को पहचाना और उसका समय रहते उत्तरदायित्वपूर्ण समाधान करना संभव हो सके।

इससे भी पढ़े :-


Discover more from DPN

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

6 thoughts on “Bank Cyber Attack: आपके बैंक खाते को खतरा! रिज़र्व बैंक को साइबर हमले का खतरा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Discover more from DPN

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading