Arvind Kejriwal Arrest: क्या केजरीवाल ED के खिलाफ SC में हल्फनामा देकर चुनाव प्रचार के लिए जेल से बाहर आएंगे? आज होगा फैसला |

Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest:  ईडी ने केजरीवाल की जमानत का विरोध करते हुए कहा है कि अगर उन्हें चुनाव प्रचार के लिए बेल मिलती है, तो इससे गलत परंपरा बन सकती है।

Arvind Kejriwal Arrest: क्या इस लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल प्रचार कर पाएंगे? क्या चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को अपना स्टार प्रचारक मिलेगा? इन सभी प्रश्नों के उत्तर उस समय टिके हैं, जब सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी किए। शुक्रवार, अर्थात 10 मई, सुप्रीम कोर्ट की अंतरिम जमानत याचिका पर सुनवाई हो सकती है। यहाँ तक कि आज ही स्पष्ट हो सकता है कि अरविंद केजरीवाल इस चुनाव में जनता के सामने उभरेंगे या नहीं।

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: वास्तव में, सुप्रीम कोर्ट में अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर सुनवाई चल रही है। केजरीवाल के वकीलों ने कोर्ट में इस तरह कहा कि जिस वक्त देश में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं, और उन्हें एक राष्ट्रीय पार्टी के नेता के रूप में देखा जा रहा है, तो उन्हें प्रचार-प्रसार के लिए जमानत मिलनी चाहिए। हालांकि, ED का दावा है कि किसी विशेष व्यक्ति को इस प्रकार की रिहाई नहीं मिलनी चाहिए। इन दलीलों के बीच, सभी को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की प्रतीक्षा है। सबसे ज्यादा उम्मीदें और इंतजार आम आदमी पार्टी को हैं।

इससे भी पढ़े :- आयकर विभाग ने कहा है कि अगर अरविंद केजरीवाल प्रचार नहीं करेंगे तो आसमान नहीं टूटेगा |

Arvind Kejriwal Arrest:  केजरीवाल के लिए चुनाव प्रचार का प्लान बना रही AAP

वास्तव में, आम आदमी पार्टी यह मान रही है कि अरविंद केजरीवाल को जमानत निश्चित रूप से मिलेगी और जेल से बाहर आते ही AAP के प्रमुख प्रचारक अरविंद केजरीवाल धूमधाम से प्रचार में शामिल होंगे। इसी कारण पार्टी ने केजरीवाल के प्रचार के लिए पूरा रोड मैप तैयार करने का काम शुरू किया है।

web Service
web Service

Arvind Kejriwal Arrest: सूत्रों के अनुसार, पार्टी इस मान्यता के साथ आगे बढ़ रही है कि केजरीवाल जल्द ही जमानत पर रिहाई पाएंगे, जिसके बाद वे दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में प्रचार की जिम्मेदारी संभालेंगे। इन तीनों राज्यों में ही AAP प्रमुखता से चुनाव लड़ रही है और इन राज्यों में चुनाव छठे और सातवें चरण में होने वाले हैं। इसमें अभी करीबन दो से तीन हफ्तों का समय शेष है।

दिल्ली-हरियाणा में मेगा रोड शो की तैयारी :

Arvind Kejriwal Arrest: पार्टी के सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली में जहां 4 सीटों पर AAP ने कांग्रेस के साथ गठबंधन में उम्मीदवारों को उतारा है, वहाँ अरविंद केजरीवाल के लिए एक महत्वपूर्ण मेगा रोड शो का आयोजन किया जा रहा है। इसके साथ ही, दिल्ली में एक महत्वपूर्ण चुनावी रैली का भी आयोजन हो सकता है, जिसमें अरविंद केजरीवाल संबोधित करेंगे। इसके अलावा, हरियाणा में केवल कुरुक्षेत्र सीट पर AAP ने कांग्रेस के साथ गठबंधन में उम्मीदवार उतारा है, जहाँ भी अरविंद केजरीवाल के लिए एक बड़ा रोड शो का आयोजन किया जा रहा है।

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: इसके अलावा, उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोआ, गुजरात, चंडीगढ़, ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड, चंडीगढ़, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, असम, आंध्र प्रदेश, झारखंड, केरल, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, बिहार, हिमाचल प्रदेश, मिज़ोरम, मेघालय, नागालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम, और विस्तार से दिल्ली के इलाकों में भी AAP के उम्मीदवार अपनी प्रचार यात्राएँ कर रहे हैं। इन प्रचार यात्राओं में केजरीवाल के सहयोगी भी हो सकते हैं, जो पार्टी के उम्मीदवारों का समर्थन करने में सक्रिय होंगे।

पंजाब में चुनाव प्रचार करते नजर आ सकते हैं केजरीवाल :

Arvind Kejriwal Arrest: सूत्र दर्शाते हैं कि दिल्ली-हरियाणा चुनाव के बाद, अरविंद केजरीवाल पंजाब में अपनी डेरा डालेंगे, क्योंकि आखिरी चरण की वोटिंग जिन राज्यों में होगी, उनमें पंजाब भी शामिल है। पंजाब AAP के लिए विशेष महत्व रखता है। इसका कारण यह है कि राज्य में सरकार बनने के बाद से पार्टी को लगता है कि इस लोकसभा चुनाव में पंजाब की 13 सीटों में सबसे अधिक सीटें AAP के खाते में जा सकती हैं।

इसी कारण, जेल से बाहर आने के बाद केजरीवाल और AAP पंजाब में प्रचार-प्रसार को लेकर किसी भी कोर कसर छोड़ने का सोच नहीं रखते। पार्टी ने पंजाब, दिल्ली और हरियाणा के लिए अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है, जिसमें पहले नंबर पर अरविंद केजरीवाल का नाम शामिल है। इससे स्पष्ट होता है कि पार्टी किस दिशा में अपनी ताकत का इस्तेमाल करना चाहती है। उनकी प्रतिभागिता से न केवल पंजाब, बल्कि दिल्ली और हरियाणा के चुनावी मैदानों में भी AAP को फायदा हो सकता है। इससे न सिर्फ उनकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी, बल्कि उनके चुनावी प्रचार में भी बड़ी सहायता मिलेगी।

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: अरविंद केजरीवाल का प्रचार कार्य पंजाब में अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि वहां की राजनीतिक समीक्षा में AAP को मिली जितनी समर्थना की जाएगी, उतना ही दिल्ली और हरियाणा में भी मिलेगा। पंजाब में AAP की भूमिका बदलने के साथ ही, दिल्ली और हरियाणा में भी उनके चुनावी प्रचार को बढ़ावा मिलेगा। इससे पार्टी के उम्मीदवारों की भागीदारी और जनमत की प्राप्ति में सुधार होगा।

साथ ही, इस समय केजरीवाल और AAP के प्रचार कार्य को लेकर बड़ी संवेदनशीलता भी बनी हुई है। उन्हें प्रचार में सफलता प्राप्त करने के लिए उचित योजना बनाने और विभिन्न राज्यों की राजनीतिक दिशा को ध्यान में रखते हुए अपने संदेश को पहुंचाने की जरूरत है। इससे न केवल पार्टी की प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी, बल्कि यह उनके चुनावी प्रचार को भी सशक्त करेगा।

इससे भी पढ़े :- सीजेआई चंद्रचूड़ ने आसाम के ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के निर्माण पर विरोध जताया है, और उन्होंने राष्ट्रीय हरित अदालत को इस मुद्दे पर सुझाव दिया है।

केजरीवाल के बाहर आते ही बदल सकती है चुनावी थीम :

Arvind Kejriwal Arrest: AAP से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, जमानत मिलने के बाद पार्टी अपने कैम्पेन की थीम भी बदल सकती है। एक ऐसी थीम को आगे बढ़ाया जाएगा जिसके जरिए यह मैसेज दिया जा सके कि केजरीवाल पर आरोप साबित नहीं हो सके इसलिए बेल मिल गई। इसका मतलब है कि केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के आरोपों को धोने वाली छवि फिर से पेश की जाएगी। अभी पार्टी ‘जेल का जवाब वोट से’ की थीम पर कैंपेन कर रही है। इससे स्पष्ट होता है कि जेल से रिहाई के बाद पार्टी अपने संदेश को समझाने के लिए एक नई दिशा में जा सकती है।

Arvind Kejriwal Arrest: जमानत मिलने के बाद, AAP को अपने प्रचार में नई रणनीति को अपनाने की जरूरत है। उन्हें अपने नेता की भ्रष्टाचार मुक्ति को लेकर एक सकारात्मक मुहिम की आवश्यकता है, ताकि उनका समर्थन बढ़े और चुनावी प्रक्रिया में उनकी छवि को पुनः स्थापित किया जा सके।

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: पार्टी के नेता केजरीवाल के खिलाफ लगे गए भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर उन्हें अपनी छवि को बचाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। वे अपने संदेश को विश्वसनीय बनाने के लिए जनता के साथ सीधे संवाद करेंगे और उनके कार्यों को सामान्य जनता के साथ साझा करेंगे। इससे वे अपने चुनावी प्रचार में सफल हो सकते हैं और उन्हें आगे की प्रतियोगिता में एक मजबूत स्थान प्राप्त हो सकता है।

वहीं, दूसरी तरफ अपने चुनावी कैंपेन को तेज करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री और पार्टी के दूसरे बड़े चेहरे भगवंत मान को भी पार्टी दिल्ली में प्रचार के लिए उतारने की तैयारी कर रही है। 11 मई को दिल्ली में भगवंत मान पूर्वी दिल्ली से प्रत्याशी कुलदीप कुमार और दक्षिणी दिल्ली से प्रत्याशी सहीराम पहलवान के लिए रोड शो करेंगे।

जनता देगी केजरीवाल को जेल में डालने का जवाब: प्रियंका कक्कड

Arvind Kejriwal Arrest: पार्टी के प्रचार-प्रसार की रणनीति पर AAP की मुख्य प्रवक्ता प्रियंका कक्कड ने कहा कि उनका दल अलग-अलग रणनीति के तहत कैंपेन की प्रक्रिया को आगे बढ़ा रहा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान भी रोड शो करते हुए दिल्ली में जल्द नजर आएंगे।

web development
web development

Arvind Kejriwal Arrest: प्रियंका ने कहा कि झूठे आरोप में अरविंद केजरीवाल को जेल में डाला गया है जिसका जवाब जनता देगी। हमारे लिए जनता चुनाव लड़ रही है। हम आम आदमी की बात करते है इसलिये हम आम आदमी पार्टी है। वहीं आगे की स्ट्रैटेजी के सवाल पर प्रियंका कक्कड ने कहा कि चुनावी कैंपेन से जुड़ी रणनीति को हम अभी मीडिया में उजागर नहीं कर सकते है, लेकिन प्रचार प्रसार में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

पिछली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने क्या-क्या कहा था? 

Arvind Kejriwal Arrest: पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी को कहा था, “मान लीजिए कि हम आपको चुनाव की वजह से अंतरिम जमानत देते हैं। फिर अगर आप कहते हैं कि आप सीएम कार्यालय जाएंगे, तो इसका व्यापक प्रभाव हो सकता है। यदि हम आपको अंतरिम जमानत देते हैं, तो हम नहीं चाहते कि आप आधिकारिक कर्तव्यों का पालन करें क्योंकि कहीं न कहीं इससे हितों का टकराव होगा। हम सरकार के कामकाज में आपका बिल्कुल भी हस्तक्षेप नहीं चाहते।”

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: जस्टिस संजीव खन्ना और जस्टिस दीपांकर दत्ता की पीठ ने केजरीवाल के वकील के इस तर्क पर ईडी से सवाल किया कि वह जांच के मुख्य फोकस नहीं थे और रिश्वत का सवाल बाद में सामने आया। जस्टिस खन्ना ने यह भी कहा कि यह किसी भी जांच एजेंसी के लिए अच्छा नहीं है कि किसी मामले की जांच में दो साल लग गए। इसके बाद जस्टिस खन्ना ने कहा कि हम शुक्रवार को अंतरिम आदेश (अंतरिम जमानत पर) सुनाएंगे। गिरफ्तारी को चुनौती देने से जुड़े मुख्य मामले पर उस दिन सुनवाई भी होगी।

केजरीवाल की जमानत के विरोध में ED ने दायर किया हलफनामा :

Arvind Kejriwal Arrest: ईडी ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में हल्फनामा दायर कर केजरीवाल की जमानत का विरोध किया। उसकी तरफ से विरोध ऐसे समय पर किया गया है, जब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। जांच एजेंसी ने कहा कि चुनाव में प्रचार करने का अधिकार न तो मौलिक अधिकार है और न ही संवैधानिक अधिकार है। ऐसे कई उदाहरण हैं जहां राजनेताओं ने न्यायिक हिरासत में रहते हुए चुनाव लड़ा, और कुछ जीते भी, लेकिन उन्हें चुनाव प्रचार के लिए कभी अंतरिम जमानत नहीं दी गई।

Arvind Kejriwal Arrest
Arvind Kejriwal Arrest

Arvind Kejriwal Arrest: ईडी ने कहा, “किसी भी राजनीतिक नेता को चुनाव प्रचार के लिए अंतरिम जमानत नहीं दी गई है, भले ही वह चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार न हो. यहां तक ​​कि चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को भी अंतरिम जमानत नहीं दी जाती है यदि वह अपने स्वयं के प्रचार के लिए हिरासत में है. यह ध्यान रखना जरूरी है कि चुनाव के लिए प्रचार करने का अधिकार न तो मौलिक अधिकार है, न ही संवैधानिक अधिकार और यहां तक ​​​​कि कानूनी अधिकार भी नहीं।”

ईडी के हलफनामे पर क्या बोली केजरीवाल की टीम? 

Arvind Kejriwal Arrest: केजरीवाल की कानूनी टीम ने गुरुवार शाम को सुप्रीम कोर्ट में उनकी अंतरिम जमानत के विरोध में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दाखिल हल्फनामे पर आपत्ति जताई। टीम ने एक प्रेस रिलीज जारी कर जानकारी दी कि इस संबंध में एक औपचारिक शिकायत उच्चतम न्यायालय की रजिस्ट्री में दर्ज कराई।

web Service
web Service

Arvind Kejriwal Arrest: ईडी के हलफनामे को कानूनी प्रक्रियाओं की घोर अवहेलना बताते हुए प्रेस रिलीज में कहा गया है कि हलफनामा सुप्रीम कोर्ट की अनुमति के बिना दाखिल किया गया। दिल्ली सीएम की कानूनी टीम ने कहा कि हलफनामे को ऐसे समय में जारी किया गया जब विषय की अंतिम सुनवाई कल (शुक्रवार को) शीर्ष अदालत में होनी है। उन्होंने इसे अवहेलनी का उदाहरण कहा और यह स्पष्ट किया कि ऐसे हलफनामे की दाखिल की जानी चाहिए, जो न्यायिक प्रक्रिया का आदान-प्रदान करते हुए उचित तरीके से संचालित हो। उन्होंने दावा किया कि ऐसे दुरुपयोग करने से न्यायिक प्रक्रिया को असमय प्रभावित किया जा रहा है, जो सामाजिक और कानूनी न्याय की अवधारणा को क्षति पहुंचा सकता है। इसके साथ ही उन्होंने विरोध जताया कि इस हलफनामे के द्वारा न्यायिक प्रक्रिया को दिशा देने की वास्तविक उपेक्षा की गई है।

 

इससे भी पढ़े :- केजरीवाल पर लगा खालिस्तान समर्थकों से पैसे लेने का आरोप |

4 thoughts on “Arvind Kejriwal Arrest: क्या केजरीवाल ED के खिलाफ SC में हल्फनामा देकर चुनाव प्रचार के लिए जेल से बाहर आएंगे? आज होगा फैसला |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *